जहानाबाद। कोरोना संक्रमण काल में अपने पैतृक भूमि के पीड़ितों के प्रति अपर पुलिस महानिदेशक की करुणा को भारत गौरव पुरस्कार से जहानाबाद और पटना के नागरिकों के लिए गर्व की बात है। पुलिस सेवा के1991 बैच के आईपीएस अधिकारी,सम्प्रति निदेशक,आधुनिकीकरण,ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च ऐंड डेवलपमेंट दिल्ली ने प्रतिष्ठित पुरस्कार भारत गौरव प्राप्त कर जिले का मान बढ़ाया है।

पटना जिले के धनरूआ के छोटे से गांव धमौल में जन्मे करुणा सागर 1991 में भारतीय पुलिस सेवा में तमिलनाडू कैडर में रहते हुए पैतृक भूमि के आपदा पीड़ितों की सेवा करते आ रहे हैं। कोरोना संकट के समय पीड़ित मानवता की सेवा की। जिले के लिए मान,सम्मान और सहयोग की भावना के प्रतीक बन चुके अपर पुलिस महानिदेशक करुणा सागर के पुरस्कार की खबर मिलते ही लोग हर्षित हो उठे। सागर को दिल्ली में भारत गौरव फाउंडेशन की ओर से केंद्रीय मंत्री मनसुख एल मांडविय एवं राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने संयुक्त रूप से प्रदान किया।

बताते चलें कि यह प्रतिष्ठित पुरस्कार उनलोगों को प्रदान किया जाता है,जो अपने कार्यक्षेत्र एवं उससे बाहर समाज सेवा के क्षेत्र में विशिष्ट एवं अनुकरणीय योगदान देते हैं। श्री सागर ने 27 वर्षों तक तमिलनाडू कैडर के आईपीएस अधिकारी के रूप में विभिन्न पदों पर रहते हुए अनुकरणीय सेवा की है और वर्तमान में गृह मंत्रालय के अंतर्गत ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट दिल्ली में निदेशक आधुनिकीकरण के पद पर उल्लेखनीय सेवा प्रदान कर रहे हैं। साथ ही समाज सेवा के क्षेत्र में स्वयं,अपने मित्रों एवं विभिन्न संस्थाओं के माध्यम से हर जरूरत के मौके पर जिले की ऐतिहासिक सेवा की है। 2016-17 में भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी को सहयोग प्रदान कर जरूरतमंदों की सेवा के लिए समर्थ बनाने का कार्य किया। 2018-19 में चार हजार जरूरतमंदों के बीच जहानाबाद एवं अरवल के विभिन्न गांवों में कंबल वितरण का कार्य कराया। सागर की संवेदनशीलता का असली परिचय कोरोना महामारी के दौरान जिलेवासियों को मिला। जब इस संकट की घड़ी में लोगों के लिए अन्न, मास्क,सैनिटाइजर आदि जरूरी सामग्री मुहैया कराने की दिशा में कार्य करना था। श्री सागर ने स्टार हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी,रिलायंस फाउंडेशन,एवं अन्य माध्यमों से अतुलनीय सेवा की। स्वरोजगार को बढ़ावा देने की दिशा में जिलाधिकारी नवीन कुमार के प्रयासों को बल प्रदान करने की दिशा में करपेंट्रों को अच्छी संख्या में इनके माध्यम से औजार उपलब्ध कराया गया। करुणा सागर की सेवा का समाज कायल है। जब उन्हें इन्हीं सब कार्यों के लिए भारत गौरव पुरस्कार 2019-20 से नवाजा गया,तो जिले के शिक्षित समाज,रेडक्रॉस सोसायटी,स्वामी सहजानंद सरस्वती संग्रहालय,पुस्तकालय,आम नागरिक समाज में खुशी का माहौल देखने को मिल रहा है। लोगों ने अपनी भावना व्यक्त करते हुए कहा कि यह एक प्रतिष्ठित पुरस्कार है। इनके पहले यह पुरस्कार पद्म श्री कल्पना सरोज, ए मुरुग्ननाथम अका उर्फ पैड मैन को दिया जा चुका है।इस पुरस्कार को प्राप्त कर श्री सागर ने हम सबों का मान बढ़ाया है। खुशी प्रकट करनेवालों में प्राध्यापक प्रो उमाशंकर सिंह सुमन,प्रो डॉ रविशंकर,प्रो श्यामाकांत शर्मा, सोसायटी के चेयरमैन प्रो सत्येंद्र कुमार,सचिव विश्वनाथ प्रसाद, वाइस चेयरमैन मुकेश कुमार, कोषाध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद,अधिवक्ता सत्येंद्र कुमार,प्रो कृष्ण मुरारी,स्वामी सहजानंद संग्रहालय के उपाध्यक्ष सीता शरण शर्मा,कार्यकारी सचिव अधिवक्ता गृजनंदन सिंह आदि प्रमुख हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप