जहानाबाद : रामाश्रय प्रसाद सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शकुराबाद के प्रांगण में स्मारक निर्माण समिति के तत्वावधान में रामाश्रय बाबू की आठवीं पुण्यतिथि श्रद्धा पूर्वक मनाई गई। कार्यक्रम की शुरुआत रामाश्रय बाबू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित करने के साथ हुई। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि वे व्यक्ति नहीं विचार थे । उनके निधन के बाद यह इलाका वीरान हो गया। एक समय था की इनके पास सात मंत्रालय हुआ करता था । इसके बावजूद भी वे सभी विभागों में निष्ठा पूर्वक कार्य करते रहे। इलाके के साथ-साथ प्रदेश के विकास में उनका योगदान हमेशा याद रखा जाएगा। ऐसे ईमानदार शिखर पुरुष के सम्मान में लोग हमेशा नतमस्तक रहेंगे। मौके पर स्मारक समिति के अध्यक्ष प्रो. नजमुल हसन तथा सचिव कन्हैया शर्मा ने कहा कि रामाश्रय बाबू के पद चिन्हों पर चलकर ही समाज व देश का भला हो सकता है । रामाश्रय बाबू के नही रहने से यह इलाका विकास से वंचित हो गया है । वक्ताओं ने कहा कि रामाश्रय बाबू की धरती शकुराबाद को मुख्यमंत्री नगर पंचायत का दर्जा दिलाने का कार्य करें । ताकि इस क्षेत्र का विकास हो सके । वक्ताओं ने कहा कि मूर्ति अनावरण में पहुंचे सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि रामाश्रय बाबू की हार्दिक इच्छा थी कि शकूराबाद को प्रखंड बनाया जाए ।लेकिन उनकी यह इच्छा अधूरी रह गई । आठ वर्ष बीत गए नहीं तो शकूराबाद को प्रखंड का ही दर्जा मिला । जिससे यहां के लोगों में काफी मायूसी हुई है। इस मौके पर कांग्रेस जिला अध्यक्ष हरिनारायण द्विवेदी, सैयद कामरान हुसैन, पूर्व प्रधानाध्यापक नंद किशोर शर्मा ,बैदेही शर्मा, शिवशंकर शर्मा, मोहन शर्मा ,अनूप कुमार ,अवध पासवान, सिद्धनाथ मिश्रा, सौरभ कुमार ,सुधीर कुमार, सहित अन्य लोगों ने अपना विचार रखा।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप