जहानाबाद

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन एवं सीमा सील के लिए जिलाधिकारी नवीन कुमार एवं पुलिस अधीक्षक दीपक रंजन की संयुक्त अध्यक्षता में अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गई। जिलाधिकारी ने बताया कि संक्रमण पर अंकुश लग रहा है। संक्रमण में जिला प्रदेश में पांचवें से 9वें स्थान पर आ गया है। सभी अधिकारियों को लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराना है ताकि कोरोना से हमलोग बाहर निकल जाए। उन्होंने कहा कि ऑटो को भी प्रतिबंधित किया गया है। पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारियों को निर्देश दिया कि जहां कहीं कोरोना संक्रमण से संबंधित नियमों का उल्लंघन करने लोगों पर कार्रवाई करें। थाना प्रभारियों द्वारा बताया गया कि क्षेत्र में कई दुकानों द्वारा अपने-अपने दुकानों पर मोबाइल नंबर डाल दिया गया है तथा जिसको किसी को भी कपड़ अथवा श्रृंगार का सामग्री लेना हो तो वे संपर्क कर दुकान जाते है। शादी के कारण बाजारों में महिलाओं की भीड़ काफी संख्या में दर्ज की जा रही है। पुलिस अधीक्षक ने सुबह छह से 11 बजे तक महिला पुलिस बल की अतिरिक्त प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया। सीमा सील के अलावा नगर परिषद क्षेत्र के अरवल मोड़, काको मोड़, स्टेशन, अस्पताल मोड़, बत्तीस भवरिया इत्यादि स्थानों पर बैरिकेडिग के साथ-साथ अत्यधिक नजर रखने की आवश्यकता है।

सील हुई सीमा, बगैर ई-पास के वाहनों पर लगी रोक

जागरण संवाददाता, जहानाबाद

गृह विभाग के निर्देशानुसार एक जिले से दूसरे जिले में प्रवेश करने पर वाहन चालकों को ई-पास दिखाना होगा। बगैर पास के जिले में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। जिलाधिकारी नवीन कुमार ने नियम के पालन को लेकर सीमा पर दंडाधिकारी के नेतृत्व में पुलिस पदाधिकारी को प्रतिनियुक्त कर दिया है।

जिले में पांच जगह को चिह्नित कर सील किया गया है। जहानाबाद-पटना सीमा पर अवस्थित कड़ौना ओपी, गया के लिए धरनई, नालंदा के लिए बंधुगंज, नालंदा सीमा के मुरगांव तथा अरवल से आने वाले को किजर सरैया के पास चेकिग प्वाइंट बनाया गया है। इसके अलावा आवश्यक पड़ने पर बीडीओ एवं अंचलाधिकारी के नेतृत्व में जरूरत पड़ने पर सीमा सीला किया जाएगा। अनुश्रवण का दायित्व अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को दिया गया है। अपर समाहर्ता एवं अपर पुलिस अधीक्षक सील सीमा कार्य के वरीय प्रभार में रहेंगे। जिले में दूसरे जगह की वाहनों को प्रवेश करने के लिए वहां के सक्षम पदाधिकारी द्वारा निर्गत पास जरूरी है। शादी विवाह के लिए आने वाले वाहनों का भी पास आवश्यक है। बगैर पास के जिले में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट