जहानाबाद। सदर अस्पताल में शनिवार को वीरानगी छाई रही। चाहे इमरजेंसी सेवा हो या फिर कोई अन्य सेवा कहीं पर कोई मरीज नहीं दिखे। सभी बेड खाली पड़े थे। शहर में दो समुदाय के बीच उत्पन्न विवाद को लेकर लोग सदर अस्पताल आना मुनासिब नहीं समझ रहे थे। लोगों को थोड़ी बहुत परेशानी भी हो रही थी तो वे लोग गांव में मौजूद किराना दुकान से दवा लेकर काम चला रहे थे। अस्पताल के बेड देखने से ऐसा लग रहा है मानो शहर से बीमारी ही समाप्त हो गई है। कहीं से किसी जख्मी व्यक्ति अस्पताल में भर्ती नहीं हुए है। बताते चलें कि जिले में शांतिपूर्ण माहौल कायम रहने पर यहां मरीजों की भीड़ लगी हुई रहती थी। प्रत्येक दिन ओपीडी में कम से कम एक से दो हजार लोग अपना इलाज कराते थे। दवा काउंटर पर लंबी कतार लगी रहती थी। आज सभी जगह लोगों की नगण्य मौजूदगी दिखी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप