जहानाबाद। कांग्रेस तथा वाम दलों के नेताओं ने मूर्ति विसर्जन के दौरान बिगड़ी शहर की स्थिति पर स्वतंत्र एजेंसी से पूरे प्रकरण की जांच कराए जाने की मांग की है।

कांग्रेस कमेटी के नेताओं ने सरकार से पिछले दिन शहर में दो समुदाय के बीच उत्पन्न विवाद से बिगड़े आपसी सौहार्द की जांच स्वच्छ एजेंसी से कराने की मांग की है। नेताओं ने शहरवासियों से आपसी भाईचारा कायम करने की अपील करते हुए कहा कि यह घटना जिले के इतिहास में काला धब्बा है। जिलेवासी आपस में मिल जुलकर रहते हैं। दोनों समुदाय के लोग एक दूसरे के सुख-दुख, शादी-समारोह, जीवन मरन में एक साथ रहते हैं। नेताओं ने कहा कि पिछले चार वर्षाे से असामाजिक तत्व के लोग शहर की आपसी सौहार्द बिगाड़ने की साजिश रच रहे हैं। लेकिन शहरवासी इनके मंसूबे में कामयाब नहीं होने दे रहे हैं। नेताओं ने सरकार तथा जिला प्रशासन से दोषी लोगों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक विद्वेषता से इसमें कोई निर्दोष को नहीं फंयासा जाए। जो दोषी है उनपर कानूनी कार्रवाई की जाए। नेताओं ने शहरवासियों से अफवाह पर विश्वास नहीं करने की अपील की। इस वारदात में जिनके जान माल और संपत्ति का नुकसान हुआ है सरका उन्हें उचित मुआवजा दे। उन्होंने कहा कि यह जिला महात्मा बुद्ध की कर्मस्थली रही है। यहां बीबी कमाल जैसे संत और फकीर रहे हैं। इस पवन स्थल को अपवित्र करने की जो साजिश रची जा रही है शहरवासी वैसे लोगों को माफ नहीं करेंगे। मांग करने वालों में जिलाध्यक्ष हरिनारायण द्विवेदी, प्रवक्ता प्रो भूषण कुमार सिंह, उपाध्यक्ष कन्हाई शर्मा, पूर्व अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा, चंद्रिका मंडल, प्रो खलील अंसारी, सुरेंद्र शर्मा, रामचंद्र साव सोनी, नवीन शर्मा, प्रो योगेंद्र यादव सहित कई लोग शामिल हैं।

वहीं भाकपा के योगेश चंद्रवंशी गिरिजानंदन, रविद्र कुमार राय, सचिव अंबिका प्रसाद ने प्रशासन से निर्दोष लोगों की गिरफ्तारी पर रोक लगाए जाने की मांग करते हुए दोषी पर कठोर कानूनी कार्रवाई किया जाए। इधर माकपा के राज्य कमेटी सदस्य दिनेश प्रसाद, राम प्रसाद पासवान, सूर्यकांत सिंह ने घटना की निदा करते हुए शहरवासियों से आपसी भाईचारा कायम करने की अपील की। नेताओं सरकार तथा प्रशासन से आगजनी, लूटपाट और मारपीट में शामिल असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार करने तथा निहित धाराओ में प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप