जागरण संवाददाता, जहानाबाद

राज्य संपोषित बालिका इंटर विद्यालय में शुक्रवार को जिला स्तरीय 23वीं राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन जिला शिक्षा पदाधिकारी बिजली राम एवं एसएस कालेज के पूर्व प्राचार्य चंद्रभूषण शर्मा ने दीप प्रज्जवलित कर संयुक्त रूप से किया। इस दौरान मौसम एंव जलवायु पर चर्चा करते हुए वक्ताओं ने कहा कि बच्चों में वैज्ञानिक चेतना जागृत हो रही है। दिनोंदिन मौसम एवं जलवायु में हो रहे परिवर्तन से वातावरण भी प्रभावित हो रहा है। उन्होंने इसे संतुलित करने पर बल दिया। वक्ताओं ने यह भी कहा कि बिना प्रयोगशाला के भी बाल वैज्ञानिकों की प्रस्तुति काबिले तारीफ है। विश्व में बढ़ते तापमान एवं मौसम की हीनता पर आधारित परियोजनाओं का निर्माण बाल वैज्ञानिक तत्पर होकर करें। इस दौरान बाल वैज्ञानिकों द्वारा मौसम एवं जलवायु का स्वास्थ्य पर प्रभाव, ग्लोबल वार्मिग पर मौसम का प्रभाव,मौसम जलवायु का कृषि पर प्रभाव,मानव गतिविधियों का मौसम एवं जलवायु पर प्रभाव आदि विषयों पर प्रोजेक्ट तैयार कर प्रदर्शित किया गया। इस दौरान अच्छे प्रदर्शन करने वाले बाल वैज्ञानिकों को पुरस्कृत किया गया एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना की गयी। निर्णायक मंडल में शामिल रामपूजन शर्मा,राधा कृष्ण शर्मा, राजेन्द्र प्रसाद आदि ने बावन प्रोजेक्ट में से पांच बाल वैज्ञानिकों का चयन किया। चयनित बाल वैज्ञानिकों में मुरलीधर इंटर विद्यालय की श्रीगंधा,प्लस टू शकुराबाद विद्यालय के सोल्जर कुमार, प्लस टू भारथू को पंकज कुमार, प्रोजेक्ट कन्या मखदुमपुर के रागिनी प्रियदर्शनी, उमवि सेरथुआ के अंजली कुमारी शामिल हैं। इस दौरान धन्यवाद ज्ञापन करते हुए योगेन्द्र प्रसाद ने कहा कि बच्चों में छिपी प्रतिभा स्वत: प्रस्फुटित हो रहा है। यह तारीफ की बात है। वैज्ञानिकों की हौसला आफजाई होनी चाहिए। चयनित प्रतिभागियों को उन्नीस से इक्कीस सितम्बर तक आरपीएस स्कूल बिहार शरीफ में होने वाले राज्य स्तरीय विज्ञान कांग्रेस के आयोजन में शामिल होने का मौका मिलेगा। मार्ग दर्शक शिक्षकों में गूंजन भारती,श्रीकांत शर्मा, अजीत कुमार, शम्भु शरण सहित कई लोग थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप