जहानाबाद। प्रखंड मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य द्वार पर अपनी 12 सूत्री मांगों के समर्थन में आशा कर्मियों ने धरना दिया। धरना की अध्यक्षता रीना कुमारी ने की। इस अवसर पर ओपीडी सेवा को भी बाधित कर दिया गया। इस अवसर पर उपस्थित

आशा कर्मियों को संबोधित करते हुए अध्यक्ष ने कहा कि जब तक हम एकजूट नहीं होंगे तब तक हमारी मांगे पूरी नहीं होगी। धरना के दौरान उन्होंने कहा कि किसी भी सरकारी अधिकारी या कर्मचारी के बहकावे में नहीं आएं। एकता में ही बल है।

उन्होंने कहा कि 10 दिसंबर को जिला मुख्यालय स्थित सिविल सर्जन कार्यालय, 11 को जिलाधिकारी, 13 व 14 को पटना में मुख्यमंत्री का घेराव किया जाएगा। अध्यक्ष ने बताया कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं की जाएगी अनवरत धरना प्रदर्शन का आयोजन जारी रहेगा। उन्होंने सरकार से आशा कर्मियों को सरकारी कर्मचारी घोषित करने,नियत वेतनमान, छुट्टी, अनुकंपा पर आश्रितों को नौकरी, सेवानिवृति का लाभ तथा रात्रि में सुरक्षा निश्चित करने की मांग मुख्य रुप से की है।

Posted By: Jagran