जहानाबाद। जिले के 15 परीक्षा केंद्रों पर शनिवार से प्रथम इंटर स्तरीय संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा 2014 आरंभ हुआ। कदाचारमुक्त परीक्षा संपन्न कराए जाने के उद्देश्य से प्रशासन द्वारा पुख्ता इंतजाम किया गया था। सभी परीक्षा केंद्रों पर जैमर लगा दिए गए थे ताकि मोबाइल के साथ ही सभी प्रकार के इंटरनेट सुविधा ठप रहे। परीक्षा केंद्रों के 200 मीटर के आसपास धारा 144 लागू कर दिया गया था। उसके अंदर परीक्षार्थियों के अलावा किसी के भी प्रवेश की अनुमति नहीं थी। परीक्षा केंद्रों के भीतर जाने के पहले सघन तलाशी ली जा रही थी। परीक्षार्थियों को जूता,मौजा,घड़ी,मोबाइल फोन, ब्लूटूथ तथा कलकुलेटर ले जाने की अनुमति नहीं थी। इतना ही नहीं वे लोग अपने साथ कलम भी नहीं ले गए थे।उंन्हें परीक्षा केंद्र में ही कलम दिए गए थे। महिला परीक्षार्थियों को भी आभूषण पहनकर परीक्षा केंद्र में जाने की अनुमति नहीं थी। परीक्षा को कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण ढंग से संचालित कराए जाने के उद्देश्य से दो स्तरों पर फ्रिश¨कग की गई थी। गश्ती दंडाधिकारी परीक्षा केंद्रों पर ओएमआर उतर पत्रकों एवं गोपनीय सामाग्रियों को शीलबंद बक्से में पहुंचा रहे थे। परीक्षा के संचालन के लिए दो सौ परीक्षार्थी पर एक पर्यवेक्षक की प्रतिनियुक्ति की गई थी। सभी परीक्षा केंद्रों पर स्टेटिक दंडाधिकारी तैनात किए गए थे। परीक्षा केंद्रों पर सुबह से ही परीक्षार्थियों की भीड़ लगने लगी थी। पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल के लोग तैनात थे।महिला परीक्षार्थियों की तलाशी महिला पुरुष और महिला शिक्षिका द्वारा की जार ही है। जिलाधिकारी आलोक रंजन घोस, एसपी मनीष, डीडीसी रामरुप प्रसाद, एसडीओ पारितोष कुमार,एएसपी पंकज कुमार आदि अधिकारी परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण कर रहे थे। जानकारी के अनुसार प्रथम पाली की परीक्षा में 9408 परीक्षार्थियों में से 6079 परीक्षार्थी ही परीक्षा में शामिल हुए। यानि 3329 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। द्वितीय पाली में 9110 की जगह 5654 परीक्षार्थी इस परीक्षा में शामिल हुए। 3454 परीक्षार्थी इस पाली मे भी अनुपस्थित रहे। परीक्षा के कारण शहर में गहमा गहमी का माहौल कायम रहा।

Posted By: Jagran