जहानाबाद। जिले में लगातार वायरल बुखार से ग्रसित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। दो दिनों में 33 बच्चे इसका इलाज कराने अस्पताल पहुंचे हैं। बुधवार को सात बच्चों का इलाज हुआ। वहीं, गुरुवार को इससे ग्रसित मरीजों की संख्या बढ़कर 26 पहुंच गई। आठ सितंबर से अब तक वायरल फीवर से ग्रसित 427 बच्चों का इलाज कराया गया है।

वायरल फीवर के कारण लगातार अस्पतालों में भीड़ बढ़ने लगी है। सदर अस्पताल में पहुंचने वाले आधे से अधिक मरीज वायरल बुखार से पीड़ित हैं। सिविल सर्जन डा अशोक कुमार चौधरी ने बताया कि इन दिनों ज्यादातर मरीज वारयल बुखार से ग्रसित होकर अस्पताल पहुंच रहें हैं। अब तक वायरल बुखार से ग्रसित 427 मरीजों का इलाज कराया गया है। अधिकांश मरीज बुखार के साथ-साथ दर्द से पीड़ित रह रहे हैं। अब लगभग सभी घरों तक इसका प्रकोप पहुंच गया है। सरकारी अस्पताल एवं निजी क्लीनिक में आने वाले 70 से 80 फीसदी मरीज वायरल बुखार से पीड़ित हैं। बचाव के लिए चिकित्सक आमजनों को धूप में नहीं निकलने, खानपान में एहतियात बरतने, बाहर की चीजों का सेवन नहीं करने और शुद्ध पेयजल पीन की सलाह दे रहे हैं। ग्रामीण इलाका ज्यादा है प्रभावित

वायरल बुखार का प्रभाव ग्रामीण इलाके में ज्यादा है। हालांकि अब तक किसी गांव विशेष को इसे लेकर चिह्नित नहीं किया गया है। स्वास्थ्यकर्मियों का कहना है कि गांव में साफ-सफाई पर ध्यान शहर की तुलना में कम दिया जाता है। इसके कारण इस बीमारी का प्रकोप ज्यादा है। दरअसल, स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत अधिक प्रभावित क्षेत्रों को चिह्नित करते हुए विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम भेजकर इलाज की सुविधा उपलब्ध करना है। लेकिन, स्थानीय अधिकारियों के द्वारा अभी तक इसकी जरूरत महसूस नहीं की गई है।

Edited By: Jagran