जागरण संवाददाता, गोपालगंज : दसवें चरण में बरौली प्रखंड में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान कराया गया। इस बीच प्रखंड की पड़ोसी जिले सिवान से लगी सीमाएं सील रहीं। प्रखंड में आने वाले तमाम पथों पर पुलिस बल से कड़ी निगरानी रखी। इस बीच प्रखंड के 293 मतदान केंद्रों पर आमतौर पर शांति दिखी। दिन चढ़ने के साथ ही मतदान का प्रतिशत बढ़ता चला गया। मतदान को लेकर सुरक्षा की तगड़ी व्यवस्था रही। सुरक्षा के तगड़े इंतजाम के कारण छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान के दौरान माहौल शांत रहा। खुद डीएम डा. नवल किशोर चौधरी व एसपी आनंद कुमार अन्य आला अधिकारियों के साथ प्रखंड के मतदान केंद्रों पर पहुंचते रहे। ईवीएम में खराबी भी मतदान में बाधा उत्पन्न करती रही। कई मतदान केंद्रों में ईवीएम में खराबी के कारण मतदान देर से शुरू हुआ।

बुधवार की सुबह से ही मतदान केंद्रों पर पुरुष मतदाताओं की अपेक्षा महिला मतदाताओं की संख्या अधिक दिखी। सुबह के एक घंटे तक मतदान की प्रक्रिया कुछ धीमी रही। इस बीच दिन चढ़ने के साथ ही मतदान का प्रतिशत बढ़ता चला गया। मतदान को लेकर बूथों पर सुरक्षा की तगड़ी व्यवस्था रही। सुरक्षा के बेहतर इंतजाम के कारण छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान के दौरान माहौल शांत रहा। डीएम डा. नवल किशोर चौधरी व एसपी आनंद कुमार अन्य आला अधिकारियों के साथ प्रखंड के मतदान केंद्रों पर पहुंचते रहे। ईवीएम में खराबी भी मतदान में बाधा उत्पन्न करती रही। कई मतदान केंद्रों में ईवीएम में खराबी के कारण मतदान कुछ देर से शुरू हुआ। दसवें चरण में करीब 1800 प्रत्याशी मैदान में थे। मुखिया, सरपंच, पंच, ग्राम पंचायत सदस्य, पंचायत समिति सदस्य तथा जिला परिषद के विभिन्न पदों पर कहीं आमने-सामने तो कहीं बहुकोणीय मुकाबले की स्थिति को देखते हुए वोटरों में मतदान को लेकर काफी उत्साह दिखा। वैसे बुधवार की सुबह छह बजे से ही वोटर मतदान करने के लिए मतदान केंद्रों पर पहुंचने लगे। सुबह सात बजे मतदान शुरू होने से पहले की मतदान केंद्रों पर वोटरों की लंबी लाइन लग गई थी। पूरे दिन वोटरों में मतदान को लेकर उत्साह देखने को मिला। सुबह आठ बजे तक प्रखंड में मात्र 4.3 प्रतिशत वोटिग हुई। इसके एक घंटे बाद नौ बजे 8.40 प्रतिशत रहा। सुबह दस बजे 11.50 प्रतिशत, 11 बजे 20.09 प्रतिशत, 12 बजे 27.80 प्रतिशत, दोपहर एक बजे तक 37.47 प्रतिशत तक मतदान हुआ। दोपहर दो बजे तक मतदान का प्रतिशत बढ़कर 41 प्रतिशत तक पहुंचा, जबकि तीन बजे 45.06 प्रतिशत मत पड़े। इसके बाद मतदान में फिर से तेजी आ गई। शाम के चार बजे मतदान प्रतिशत बढ़ कर 52 प्रतिशत के करीब तक पहुंच गया। मतदान को लेकर आधी आबादी, युवा वोटरों से लेकर बुजुर्ग मतदाताओं में काफी उत्साह रहा। हालांकि मतदान के दौरान ईवीएम में खराबी के कारण बाधा भी आई। कई मतदान केंद्रों पर ईवीएम में खराबी के कारण मतदान देर से शुरू हुआ। मतदान के दौरान सुरक्षा की व्यवस्था तगड़ी रही। शांतिपूर्ण माहौल के बीच वोटरों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

Edited By: Jagran