गोपालगंज। मानदेय बढ़ाने सहित विभिन्न मांगों को लेकर जिले के सरकारी अस्पतालों में काम करने वाले डाटा इंट्री ऑपरेटरों की हड़ताल सोमवार को भी जारी रहा। लगातार आठवें दिन हड़ताल के कारण डाटा इंट्री का कार्य पूरी तरह से ठप पड़ा हुआ है। पर्ची कटाने के लिए भी मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस बीच डाटा इंट्री ऑपरेटरों ने सदर अस्पताल परिसर में स्थित सीएस कार्यालय के समक्ष अपनी मांगों के समर्थन में धरना दिया। इस दौरान यह ऐलान किया गया कि जब तक मांगें पूरी नहीं होती हड़ताल जारी रहेगा।

सरकारी अस्पतालों के डाटा इंट्री ऑपरेटरों का मानदेय बढ़ाकर प्रति माह 11 हजार रुपया करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर डाटा इंट्री ऑपरेटर संघ ने हड़ताल का आह्वान किया था। इस आह्वान के बाद बीते सोमवार को सरकारी अस्पतालों में काम कर रहे डाटा इंट्री हड़ताल पर चले गए थे। आठवें दिन सोमवार को भी डाटा इंट्री ऑपरेटरों की हड़ताल जारी रहा। जिससे सरकारी अस्पतालों में डाटा इंट्री को काम ठप रहा। हड़ताल के कारण पर्ची कटाने के लिए मरीजों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। इस बीच सीएस कार्यालय के समक्ष ऑपरेटरों ने अपनी मांगों के समर्थन में धरना दिया। ऑपरेटरों को कहना था कि उनकी समस्याओं के समाधान को लेकर एक कमेटी का गठन किया गया था। कमेटी के गठन के बाद सरकारी अस्पतालों में कार्यरत डाटा इंट्री ऑपरेटरों को प्रति माह 11 हजार रुपया मानदेय देने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन अभी उन्हें आठ हजार रुपया मानदेय दिया जा रहा है। इसके साथ ही डाटा इंट्री ऑपरेटर को बिना किसी शर्त के अनुभव के आधार पर कार्य देना था। लेकिन आउटसोर्स एजेंसी कार्य देने में मनमानी कर रही है। उन्होंने 11 हजार रुपया प्रतिमाह मानदेय देने तथा अनुभव के आधार पर कार्य देने की मांग करते हुए कहा कि जब तक मांगें पूरी नहीं होगी हड़ताल जारी रहेगा। धरना देने वालों में विनित तिवारी, कामनी कुमारी, रजनी राय, राजू यादव, अनिल ¨सह, अंकित कुमार, अजय साह, रिषू राय, अमित कुमार, राजकुमार गुप्ता, ¨पटू पटेल, राहुल गिरी, सब्बू कुमारी, रागनी कुमारी, बब्लू कुमार राय सहित काफी संख्या में ऑपरेटर शामिल रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस