गोपालगंज : शहर के थावे रोड स्थित चिकित्सक डॉक्टर आलोक कुमार सुमन में घर में हुई डकैती की घटना में दो आरोपित को प्रोडक्शन वारंट के आधार पर हाजीपुर से से सोमवार को सीजेएम के न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। इस मामले में दोनों आरोपित को सीजेएम के न्यायालय ने चौदह दिनों के न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

जानकारी के अनुसार सात जून 2018 की रात्रि हथियारबंद अपराधियों ने थावे रोड के निवासी डॉक्टर आलोक कुमार सुमन के घर से नकदी सहित करीब 35 लाख रुपये मूल्य की संपत्ति तथा लाइसेंसी पिस्तौल लूट ली थी। लूटपाट के दौरान अपराधियों ने करीब एक घंटे तक चिकित्सक तथा उनके परिवार के लोगों को एक कमरे में बंधक बनाकर रखा। घटना के दौरान आसपास के लोगों को इस बात की भनक भी नहीं लगी। घटना को लेकर प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद पुलिस ने अपराधियों की धर पकड़ की कार्रवाई की। इस चर्चित डकैती की घटना में वैशाली में अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद पूरे घटनाक्रम का पर्दाफाश हुआ। वैशाली में पकड़े गए अपराधियों ने प्रदेश के कई इलाकों में बड़े-बड़े लोगों के घर में डकैती की घटना में संलिप्तता को स्वीकार किया। पूर्व में इस मामले में कई आरोपित को पुलिस जेल भेज चुकी है। डकैती की इस घटना में पुलिस को समस्तीपुर जिला के विद्यापतिनगर थाना क्षेत्र के सिमरी गांव के सुबोध कुमार तथा अंकेश कुमार की तलाश थी। किसी दूसरे आपराधिक मामले में हाजीपुर जेल में बंद दोनों आरोपित को प्रोडक्शन वारंट के आधार पर हाजीपुर कारा प्रशासन ने सोमवार को न्यायालय में प्रस्तुत किया। जिसके बाद दोनों को जेल भेज दिया गया। ज्ञातव्य है कि डॉक्टर आलोक कुमार सुमन वर्तमान समय में गोपालगंज के सांसद हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप