मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

गोपालगंज : लोकसभा चुनाव में राजनीतिक दलों और प्रत्याशियों का प्रचार अभियान तेज होने के साथ ही अब महिलाओं के बीच भी चुनावी चर्चाएं तेज हो गई हैं। कस्बाई इलाकों से लेकर गांवों में महिलाएं अपने घर की दहलीज के बाहर आपस में बतकही कर चुनावी मुद्दों को गढ़ने लगी हैं। महिलाओं के बीच चुनाव को लेकर चल रही चर्चाओं में अभी विकास ही मुख्य मुद्दा बना हुआ है। हालांकि अब धीरे-धीरे राष्ट्रहित भी इनके बीच मुद्दा बनता जा रहा है। विकास तथा राष्ट्रहित को लेकर महिलाएं आपस में तर्क वितर्क कर रही हैं। तर्क वितर्क के दौरान कोई महिला मोदी तथा नीतीश कुमार के कार्यों की सराहना कर रही हैं तो कोई महागठबंधन के पक्ष में अपना तर्क दे रही हैं। बुधवार को भी थावे प्रखंड के चितुटोला गांव की महिलाएं एक घर के दहलीज पर चुनाव को लेकर आपस में चर्चाएं कर रही थीं। कुछ महिला कुर्सी पर तो कई पास में खाट बिछाकर उस पर बैठी थीं। इस चर्चा में सुजानती देवी मोदी तथा नीतीश कुमार के पक्ष में हवा बना रही थीं। उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार के पहले महिलाओं का घर से निकलना मुश्किल था। बेटियां पढ़ने के लिए स्कूल नहीं जा पा रही थीं। अब बेटियां पढ़ लिख कर आगे बढ़ रही हैं। केंद्र में मोदी की सरकार बनने से अब घर-घर में बिजली पहुंच गई है। इस सरकार की देन है कि अब गरीब परिवार की महिलाएं रसोई गैस चूल्हा पर खाना बना रही हैं। इनकी बातों में हामी भरते हुए आगर देवी, शैल कुमर, आशा देवी ने कहा कि मोदी सरकार की देन है कि अब घर-घर में शौचालय बन गया है। महिलाओं को अब पहले की तरह परेशानी नहीं झेलनी पड़ती है। गरीबों पांच लाख तक इलाज की सुविधा मिल गई है। ये कहती हैं कि यह पहली सरकार है, जो गरीबों के लिए दिल से काम कर रही है। चर्चा के दौरान इनकी बातों को काटते हुए संदरी देवी, रीता देवी, रबर देवी ने कहा कि अब लोग किसी बहकावे में नहीं आएंगे। मोदी सरकार ने जो भी वादा किया था, वह पूरा नहीं हुआ है। ये कहती हैं कि सरकार की नीतियों से किसान से लेकर युवक सभी परेशान हैं। हालांकि चर्चा में शामिल सीमा देवी, गिरजा देवी, सुनैना देवी इनकी बातों से सहमत नहीं थीं। इन्होंने कहा कि मोदी सरकार आतंकवाद से मजबूती से लड़ रही है। इस सरकार ने पाकिस्तान में घुस कर आतंकवादियों को सबक सिखाया है। गांव-गांव में विकास दिख रहा है। यह विकास मोदी तथा नीतीश सरकार की देन है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप