गोपालगंज। चार दिन ठप रहने के बाद गुरुवार को जिले में कोविड वैक्सीनेशन का काम फिर से शुरू हो गया। हालांकि पटना से महज दस हजार कोविड वैक्सीन मिली है। इसमें से पांच हजार वैक्सीन शहरी क्षेत्र तथा इतनी ही वैक्सीन प्रखंडों में आवंटित कर दी गई। पटना से वैक्सीन पहुंचने के बाद गुरुवार की सुबह से ही सभी वैक्सीनेशन केंद्रों पर लोगों की भीड़ उमड़ी रही। शहर के अंबेडकर भवन में बनाए गए केंद्र पर लोगों की भारी भीड़ को देखते हुए यहां आठ सौ वैक्सीन की डोज उपलब्ध कराई गई। हालांकि शुक्रवार को वैक्सीनेशन का काम जारी रखेगा या नहीं, इसको लेकर अभी संशय है। अगर रात में पटना से जिले में वैक्सीन की डोज नहीं पहुंची तो शुक्रवार को वैक्सीनेशन का काम ठप हो सकता है।

जिले में कोविड वैक्सीन लगाने के लिए लोगों में जागरूकता बढ़ गई है। लेकिन इधर वैक्सीन की कमी के कारण वैक्सीनेशन के काम पर असर पड़ रहा है। वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने से चार दिन तक जिले में वैक्सीनेशन का काम ठप रहा। इसी बीच बुधवार की देर शाम जिले में पटना से दस हजार वैक्सीन लाई गई। वैक्सीन पहुंचने के बाद पांच हजार वैक्सीन जिला मुख्यालय में स्थित केंद्रों पर भेज दी गई। वहीं रातों रात शेष पांच हजार वैक्सीन प्रखंडों में स्थित वैक्सीनेशन केंद्रों को उपलब्ध करा दिया गया। वैक्सीन उपलब्ध होने के बाद शुक्रवार को फिर से वैक्सीनेशन का काम शुरू हो गया। सभी केंद्रों पर वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी रही। शहर के अंबेडकर भवन में बनाए गए केंद्र पर लोगों की भारी भीड़ को देखते हुए यहां सबसे अधिक आठ सौ वैक्सीन की डोज उपलब्ध कराई गई। इसी तरफ शहर के राजकीय बुनियादी विद्यालय मारवाड़ी मोहल्ला वार्ड 16, उर्दू मकतब स्कूल वार्ड 12, वार्ड 27, जंगलिया वार्ड 18, कमला राय कालेज तथा सदर अस्पताल के पूर्वी गेट के सामने वार्ड 19 में पार्षद के आवास के पास स्थित केंद्र पर सात- सात सौ वैक्सीन की डोज उपलब्ध कराई गई। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा.शक्ति सिंह ने बताया कि रात तक पटना से वैक्सीन की और डोज जिले में पहुंचने उम्मीद है। अगर वैक्सीन पहुंच गई तो शुक्रवार को वैक्सीनेशन का काम जारी रहेगा।

Edited By: Jagran