गोपालगंज : पिछले दो-तीन दिनों से जारी उमस भरी गर्मी के बीच शनिवार की शाम से मौसम का मिजाज बदल गया। इस बीच रुक-रुक कर हुई बारिश के कारण लोगों को गर्मी से राहत मिली। इस बीच ग्रामीण हाट बाजार बारिश के कारण कचरे में तब्दील हो गए, जबकि शहरी इलाके के कई मोहल्ले में जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई। हालांकि इस बारिश के कारण धान का बिचड़ा तैयार कर रहे किसानों को फायदा हुआ।

वैसे पिछले दो-तीन दिनों से उमस भरी गर्मी के कारण लोगों की परेशानी बढ़ गई थी। इस बीच शनिवार को दोपहर बाद मौसम का मिजाज बदल गया। शाम के करीब चार बजे हल्की बारिश के बाद देर रात से रुक-रुक कर बारिश प्रारंभ हो गई। बारिश का यह दौर रविवार को भी चलता रहा। इस बीच पूरे दिन हवा का भी प्रकोप दिखा। रविवार की शाम तक कभी तेज तो कभी हल्की बारिश होने के कारण शहरी इलाकों से लेकर ग्रामीण हाट बाजारों तक के नाले भर गए। पानी सड़कों पर बहने लगा। शहर के कई मोहल्लों में जल जमाव के कारण लोगों का घरों से बाहर निकला मुश्किल हो गया। वैसे इस बारिश से गन्ने की खेती के अलावा धान का बिचड़ा तैयार कर रहे किसानों को अधिक फायदा हुआ। इस बारिश ने शहरी इलाकों में नगर निकायों की ओर से ही की गई बरसात पूर्व तैयारी की हवा निकलती दिखी। बारिश के कारण जिला मुख्यालय की सड़कों पर जलजमाव नजारा दिखने लगा। शहर के बस स्टैंड, थाना रोड से रामनाथ शर्मा मार्ग तक, मिज स्टेडियम पथ, इंद्रपुरी मोहल्ला, अधिवक्ता नगर, राजेंद्र नगर, स्टेशन रोड, आर्य नगर, श्रीराम नगर आदि मोहल्ले में सड़क पर कुछ देर के लिए पानी जमा हो गया। लगातार बारिश होने के कारण कई इलाकों में सड़क पर जमा बारिश का पानी पूरे दिन नहीं निकल सका। ऐसे में लोगों को पैदल आने-जाने में भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।

Edited By: Jagran