गोपालगंज, जेएनएन। पति मनमानी पर मनमानी करता रहा। पत्नी समझाते-समझाते तंग आ गई। लेकिन, पति नहीं माना। तब पत्नी सनकेशिया देवी ने उसके साथ सख्ती बरती। पत्‍नी ने ऐसा कदम उठाया कि पति हरेंद्र राम के होश ठिकाने आ गए। लेकिन अब पछताए होत क्या, जब चिड़िया चुग गई खेत। वहीं पत्नी के इस कदम की सराहना हो रही है। लेकिन पुलिस प्रशासन पर सवाल भी उठ रहे हैं कि बंदी के बाद भी गांव में शराब आती कहां से है?

भेज दिया जेल 

मामला बिहार के गोपालगंज जिले का है। बताया जाता है कि भोरे गांव में अपने पति का शराब पीना पत्नी सनकेशिया देवी को इतना नागवार गुजरा कि उसने पति के हाथों में हथकड़ी लगवा दी। पत्नी के आरोप पर भोरे थाने की पुलिस ने हरेंद्र राम को शराब पीने के आरोप में जेल भेज दिया। 

भोरे के पीपरचाफा गांव का मामला

भोरे थाना क्षेत्र के पीपरचाफा गांव का रहनेवाला हरेंद्र राम अक्सर शराब के नशे में धुत होकर अपनी पत्नी के साथ मारपीट करता था। इतना ही नहीं, गांव के लोगों के साथ गाली गलौज भी करता था। 

गणतंत्र दिवस के मौके पर पी ली शराब

गणतंत्र दिवस के दिन तो हरेंद्र राम ने जमकर हंगामा किया। शराब पीकर आया और पत्नी सनकेशिया देवी की पिटाई करने लगा। इस बार पत्नी का संयम जवाब दे दिया। मारपीट से तंग पत्नी ने भोरे थाना को इसकी जानकारी दी। बयान देकर उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने हरेंद्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

आखिर कहां से आती है शराब

इससे पूर्व 24 दिसंबर को भी भोरे थाना क्षेत्र में ऐसा मामला आया था। तब खोरहीं गांव की जोहरा खातून ने अपने पति जलालुद्दीन को हथकड़ी लगवाई थी। बहरहाल दोनों ही मामलों में महिला की दिलेरी की गांव वाले प्रशंसा करते नहीं थक रहे हैं। लेकिन, बड़ा सवाल तो यह है कि शराबबंदी के बाद भी गांव में शराब कहां से आ रही है? न इस पर पुलिस बोलने को तैयार है और न ही कोई प्रशासनिक अधिकारी और न ही गांव के लोग।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप