गोपालगंज : मांझा थाने की पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के चार सदस्यों को चोरी की तीन बाइक के साथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार वाहन चोर गिरोह के सदस्य मजदूरी के साथ वाहन चोरी की वारदात को भी अंजाम देने का कार्य करते थे। इस कारण पुलिस को उनकी गिरफ्तारी करने में काफी परेशानी झेलनी पड़ी। पुलिस ने गिरफ्तार वाहन चोर गिरोह के सदस्यों से पूछताछ करने के बाद रविवार को उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

मांझा थानाध्यक्ष विशाल आनंद ने बताया कि मांझा बाजार सहित आसपास के इलाके में लगातार हो रही वाहन चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस ने वाहन चोर गिरोह की तलाशी शुरू कर दी थी। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली की बरौली थाना क्षेत्र के कहला गांव निवासी जिगन मांझी उर्फ सुनील वाहन चोर गिरोह का सरगना है। इसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर उसे चोरी की एक बाइक के साथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार जिगन मांझी उर्फ सुनील मांझी के निशानदेही पर पुलिस ने मांझा थाना क्षेत्र के धर्मपरसा गांव में छापेमारी कर वाहन चोर गिरोह के सदस्य देवनाथ राम, नीतीश कुमार व गुड्डू राम को चोरी की दो बाइक के साथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार वाहन चोर गिरोह के सदस्यों ने पुलिस के पूछताछ के दौरान मांझा, गोपालगंज, बरौली, थावे सहित अन्य जगहों से दर्जनों वाहन चोरी करने की बात स्वीकार की। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार वाहन चोर गिरोह का सरगना जिगन मांझी उर्फ सुनील सप्ताह में पांच दिन मजदूरी करने का कार्य करता था, जिससे किसी को उसपर शक नहीं होता था। वही गिरफ्तार वाहन चोर गिरोह के सदस्य वाहन चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद चोरी हुई बाइक का पा‌र्ट्स बदल कर उसे सिवान व यूपी के देवरिया में बेचने का कार्य करते थे। थानाध्यक्ष ने बताया कि गिरफ्तार वाहन चोर गिरोह के अन्य पांच सदस्यों की तलाश में पुलिस छापेमारी अभियान चला रही है।

Edited By: Jagran