गोपालगंज : कुचायकोट थाना क्षेत्र के मठिया हाता गांव में दोहरे हत्याकांड के बाद हुए पथराव और आगजनी को लेकर दर्ज कराई प्राथमिकी पर अब इस गांव के ग्रामीण सवाल उठाने लगे हैं। इस गांव के ग्रामीण तथा जनप्रतिनिधियों का आरोप है कि इस मामले मे दर्ज प्राथमिकी में प्रशासन ने लापरवाही बरती गई है । बवाल को शांत करने के लिए प्रशासन और पुलिस की मदद करने वालों पर भी प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। ग्रामीण अब वरीय पदाधिकारी से मिलकर अपनी शिकायत दर्ज कराने की तैयारी कर रहे हैं ।

बीते सोमवार की सुबह डेढ़ कट्ठा जमीन पर मिट्टी भरवाने को लेकर हुए विवाद के बाद मठिया हाता गांव निवासी सुरेश कमकर तथा रवि कमकर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने गांव में जमकर बवाल काटा था । इस मामले में अंचल पदाधिकारी कुचायकोट चौधरी राम के बयान पर 17 लोगो को नामजद तथा ढाई सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद तमाम ग्रामीण घर छोड़कर पलायन कर गए हैं। गांव सुना पड़ा है। सीओ द्वारा दर्ज कराई प्राथमिकी को लेकर तमाम ग्रामीणों ने शिकायत की शिकायत है कि नामजद लोगों में ऐसे लोगों का भी नाम शामिल कर लिया गया जो घटना के समय पुलिस और प्रशासन की मदद में जुटे थे। ग्रामीण पदाधिकारियों से मिलकर इस मामले में अपनी शिकायत दर्ज कराने की प्रक्रिया में जुटे हैं। घटना के चौथे दिन भी गांव में जगह-जगह पुलिस बल और मजिस्ट्रेट तैनात रहे। गांव में भारी संख्या में पुलिस कैंप कर रही है। वरीय पदाधिकारी भी गांव की स्थिति पर नजर रखे हुए हैं ।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप