संवाद सूत्र, सिधवलिया (गोपालगंज) : बिहार सरकार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने गुरुवार को सत्तरघाट में बनने वाले एप्रोच रोड तथा पुल निर्माण स्थल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने संपर्क पथ की तत्काल मरम्मत कराकर सत्तरघाट महासेतु पर परिचालन शीघ्र शुरू कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि जून महीने में गंडक नदी में आई बाढ़ के पानी के दबाव को देखते हुए जल प्रवाह के लिए एप्रोच रोड काटा गया था। करीब तीन महीने से इस संपर्क पथ पर आवागमन बाधित हुई है। बाढ़ का पानी कम होने और नदी का जलस्तर सामान्य होने के बाद अब प्राथमिकता के आधार पर एप्रोच रोड का निर्माण शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आवश्यकता के अनुसार अप्रोच रोड में चार पुल भी बनाए जाएंगे। ताकि प्रतिवर्ष गंडक नदी में उफान आने की वजह से जल प्रवाह आसानी से हो सके। लोगों को बाढ़ की समस्या से अस्थाई तौर पर निजात मिल सके। उन्होंने एप्रोच रोड पर बनने वाले पुल के लिए तैयार डीपीआर का अवलोकन किया। सत्तरघाट जाने से पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने राजापट्टी में मंत्री का स्वागत किया। पथ निर्माण मंत्री ने बरौली प्रखंड के सलेमपुर वार्ड संख्या पांच में जल निकासी के मामले की भी जांच किया। उन्होंने डुमरिया घाट महासेतु का निरीक्षण भी किया। महासेतु की टूटी रेलिग की तत्काल मरम्मत कराने का निर्देश दिया। मंत्री ने नारायणी रिवर फ्रंट का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय डीएम डा. नवल किशोर चौधरी, एसडीएम उपेंद्र पाल, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष पूर्व विधायक मिथिलेश तिवारी, बीडीओ बैकुंठपुर अशोक कुमार, बीडीओ सिधवलिया अभ्युदय, थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार, महम्मदपुर थानाध्यक्ष शशिरंजन कुमार सहित भाजपा के तमाम नेता मौजूद रहे।

Edited By: Jagran