गोपालगंज : थावे बाजार में चार दिन पूर्व हुए आभूषण लूट मामले में अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज आभूषण व्यवसायियों ने अपनी दुकानों को अनिश्चित कालीन बंद रखने का एलान किया। इस बीच व्यवसायी इस बात को लेकर आक्रोशित दिखे कि पुलिस इस बड़ी घटना में अबतक कार्रवाई नहीं कर सकी है।

बताया जाता है कि थावे बाजार में आभूषण व्यवसायी ललन प्रसाद की जय मां दुर्गे ज्वेलर्स दुकान में बाइक सवार चार अपराधियों ने चार दिन पूर्व दिनदहाड़े हथियार के बल पर सोना, चांदी व नकदी रुपए लूट ली थी। जिसमे पुलिस अभी तक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं कर सकी है। इस बात से नाराज आभूषण व्यवसायियों ने पुलिस को चेतावनी देते हुए अपनी दुकानों को अनिश्चित कालीन बंद करने का ऐलान किया। आभूषण व्यवसायियों ने कहना था कि पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी के साथ जब तक माल बरामद नही करती है, तब तक थावे बाजार की सभी दुकानों को अनिश्चितकाल तक बंद रखा जाएगा। दुकान बंदी को लेकर सभी आभूषण व्यवसायी पूरे थावे बाजार, स्टेशन रोड, थावे बस स्टैंड पर घूमकर शनिवार के दिन से दुकान बंद करने का अल्टीमेटम दुकानदारों को दिया। लूट से नाराज व्यवसायियों ने शुक्रवार को भी अपनी-अपनी आभूषण की दुकानों को बंद रखी। इस दौरान आभूषण व्यवसायी ललन प्रसाद, विदेशी टोला के मुखिया मनीष कुमार गुप्ता, गप्पू गुप्ता, नारायण जी प्रसाद, अभिमन्यु गुप्ता, ओमप्रकाश सोनी, मनीष गुप्ता, प्रिस कुमार, विजय सोनी, रामनरेश गुप्ता, पाशपति गुप्ता, अनिरुद्ध सोनी ने अपनी दुकानों को अनिश्चित कालीन बंद रखने की ऐलान किया। थावे पुलिस ने आभूषण दुकान में लगे सीसी कैमरे को खंगाला

थावे : थावे बाजार चार दिन पूर्व ललन प्रसाद की जय मां दुर्गे ज्वेलर्स दुकान से लूट के बाद शुक्रवार को भी थावे पुलिस ने फिर सीसीटीवी कैमरे को खंगालती रही। एक सप्ताह पीछे की हिस्ट्री की जांच की। थावे थानाध्यक्ष किरण शंकर के नेतृत्व में थाने के एसआई राजलक्ष्मी व सुनील कुमार ने लूट गए आभूषण दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाला। एक सप्ताह पहले की रैकी का हिस्ट्री निकालकर जांच पड़ताल की। जिससे अपराधियों की लूट के मामले में खुलासा हो सकें। आभूषण लूट के मामले में अलर्ट रही पुलिस

थावे (गोपालगंज) : थावे बाजार में ललन प्रसाद की जय मां दुर्गे ज्वेलर्स दुकान में लूट के बाद चौथे दिन भी स्थानीय थाने की पुलिस अलर्ट रही। थावे थाने के एएसआई सुनील कुमार यादव पुलिस जवानों के साथ लगातार बाजार में गश्त लगाते रहे। इसके साथ ही हर चौक चौराहों पर वाहन जांच के साथ बाइक चालकों की सख्ती से बाडी सर्च कर गाड़ी की कागजात, ड्राइविग लाइसेंस व अन्य कागजातों की जांच की गई।

Edited By: Jagran