गोपालगंज। कुचायकोट प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय खैरटिया तथा बेलवनवा सहित कई सरकारी स्कूल में मस्ती की पाठशाला को सफल होते देख अब जिले के सभी प्रखंडों के सरकारी स्कूलों में विशेष कक्ष बनाया जाएगा। सामाजिक सहयोग से बनाए जाने वाले इस विशेष कक्ष को पेंटिग, चित्रकला, वॉल पेंटिग कर विशेष रूप से सजाया संवारा जाएगा। इस विशेष कक्षा की दीवाल पर आकर्षक ढंग से अक्षर, गिनती तथा पहाड़ा लिखी जाएगी। सामाजिक सरोकार से जुड़े चित्र भी बनाए जाएंगे। ताकि इस विशेष कक्षा में बचते खेलते कूदते में अक्षर ज्ञान से लेकर गिनती पहाड़ सीख सकें।

जिलाधिकारी अनिमेष कुमार पराशर ने कुछ छह माह पूर्व शहर के अंबेडकर भवन में हुई प्रधानाध्यापकों की बैठक में सरकारी स्कूलों में सामाज से सहयोग लेकर विशेष कक्ष बनाने की पहल की थी। जिलाधिकारी की इस पहल पर कुचायकोट प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय खैरटिया तथा बेलवनवा सहित कई सरकारी स्कूलों प्रधानाध्यापकों ने स्थानीय लोगों से संपर्क कर अपने अपने स्कूल में विशेष कक्ष बनाने की दिशा में काम शुरू किया। जिसका नतीजा भी सकारात्मक रहा। खैरटिया तथा बेलवलवां सहित कई सरकारी स्कूलों में समाज के लोगों से सहयोग लेकर दो या तीन कमरों में विशेष पेंटिग, चित्रकला, आकर्षक फोटो और वॉल पेंटिग कराई गई। अब इन विशेष कक्षा में बच्चे खेलते खेलते अक्षर ज्ञान से लेकर गिनती और पहाड़ा सीख रहे हैं। इस विशेष कक्षा को लेकर बच्चों में बेहद उत्साह देखा जा रहा है। जिसे देखते हुए अब शिक्षा विभाग ने इस पहल को सभी प्रखंडों के सरकारी स्कूलों में आगे बढ़ाने का निर्णय लिया है। अब जिले के सभी प्रखंडों के सरकारी स्कूलों में समाज से सहयोग लेकर विशेष कक्षा बनाया जाएगा।

Posted By: Jagran