जागरण संवाददाता, गया। गया जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर एक से बुधवार को आरपीएफ की टीम ने 7 किलो 500 ग्राम अफीम के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया। जिसका मूल्य लगभग डेढ़ लाख रुपए बताया जा रहा है। आरपीएफ इंस्पेक्टर एएस सिद्दीकी ने बताया कि जंक्शन परिसर में देर रात आरपीएफ की टीम गस्ती कर रही थी। तभी वेटिंग रूम के पास एक व्यक्ति को संदेह के आधार पर पूछताछ की गई।उसके पास ट्रेन संख्या 02311 नेताजी सुभाष एक्सप्रेस का प्रथम श्रेणी वातानुकूल का टिकट था। जिसका पीएनआर नंबर 6347915355 था। जो गया से चंडीगढ़ तक 3 मार्च का टिकट था और प्रतीक्षा सूची 1 थी, क्योंकि उसके पास प्रथम श्रेणी वातानुकूल का टिकट था तथा उसके हाव-भाव एवं हुलिया से वह व्यक्ति उक्त श्रेणी का यात्री नहीं लग रहा था।

पूछताछ के क्रम में उसकी बैग की तलाशी ली गई। बैग में कपड़े और जैकेट मिला। जब जैकेट की तलाशी ली गई तो उसमें से तीन पैकेट मिला। जिसमें लगभग 7.50 किलो अफीम बरामद किया गया। आरपीएफ इंस्पेक्टर एस सिद्दीकी  ने बताया कि गिरफ्तार तस्कर का नाम मंजीदर सिंह है। वह पंजाब के रोपर जिले का रहने वाला है। पकड़ा गया मंजीदर गया जिले के बाराचट्टी थाना क्षेत्र अंतर्गत भलुआचट्टी में एक पंजाबी ढाबा चलाता है। बाराचट्टी में ही रहता है। 2 से 3 महीने के अंतर वह  पंजाब जाता रहता है। वहां इस अफीम को बेचता है।

रेल थाना में दर्ज हुई प्राथमिकी

आरपीएफ थाना के द्वारा  गिरफ्तार तस्कर के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जा रही है।  रेल थाना में प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। रेल थानाध्यक्ष संतोष कुमार ने बताया कि होली को लेकर जंक्शन व ट्रेनों में लगातार चेकिंग व जांच आरपीएफ व जीआरपी के अधिकारियों व पुलिसकर्मियों के द्वारा की जा रही है। ट्रेनों से शराब की तस्करी करने वाले तस्कर पर विशेष नजर रखी जा रही है।

बाराचट्टी जंगल का इलाका अफीम का क्षेत्र

गया जिले के बाराचट्टी जंगल का इलाका अवैध तरीके से अफीम की खेती के लिए जाना जाता है। समय-समय पर वन विभाग की टीम इन जंगल क्षेत्रों में अफीम की फसल भी नस्ट करती रही है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021