गया, जागरण संवाददाता। वजीरगंज के बछौल हादसे के घायल मरीजों से मिलने मेडिकल अस्पताल पहुंचे वजीरगंज विधायक वीरेंद्र सिंह वहां गंदगी व दूसरी तरह की कुव्यवस्था देख नाराज हुए। सर्जरी वार्ड प्रथम तल जहां मरीज भर्ती थे वहां दो पंखा बंद था। एसी भी नहीं लगी थी। खिड़की जर्जर हाल में थी। खिड़की में पर्दे टंगे हुए थे। वार्ड में उमस काफी अधिक थी। बदबू भी था। इन सारी कुव्यवस्था से विधायक खिन्न दिखे। उन्होंने ड्यूटी पर रहीं नर्स व दूसरे स्वास्थकर्मियों से इस बारे में जवाब पूछा।

भर्ती वार्ड में सभी तरह की व्यवस्था दुरुस्त रखने का निर्देश

विधायक ने अस्पताल अधीक्षक डा. प्रदीप अग्रवाल से मरीजों के हित में अविलंब व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया। विधायक ने कहा कि इतनी बुरी हालत में मरीजों का किस तरह से इलाज होगा। मरीज बेहतर इलाज व सुविधा की उम्मीद लेकर अस्पताल पहुंचते हैं। वार्ड से ही विधायक ने स्वास्थ्य मंत्री को फोन लगाकर कुव्यवस्था को लेकर शिकायत की। अधीक्षक ने  मामले में दोषी कर्मियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई का भरोसा दिया।

स्वास्थ्य प्रबंधक समेत कई कर्मियों से शोकाज, लापरवाही बर्दाश्त नहीं: अधीक्षक

मगध मेडिकल अस्पताल के अधीक्षक डा. प्रदीप अग्रवाल ने वजीरगंज विधायक द्वारा कुव्यवस्था को लेकर की गई शिकायत के आलोक में स्वास्थ्य प्रबंधक आसिफ अहमद समेत कई कर्मियों से शोकाज किया है। अस्पताल की नर्स कुमारी रश्मि सिन्हा, पुनम कुमारी, रूपम कुमारी, पुष्पा कुमारी, सफाई कर्मी कृष्णा राम, कांति देवी से 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा है। अधीक्षक ने संबंधित कर्मियों से ड्यूटी के प्रति उदासीनता माना है। अधीक्षक ने कहा कि कर्मियों से जवाब मांगा गया है। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर आगे सख्त कार्रवाई की जाएगी। बताया कि संबंधित वार्ड में दो और पंखा लगा दिया गया है। साफ-सफाई को बेहतर रखने का निर्देश दिया गया है।

Edited By: Sumita Jaiswal