गया: अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायाधीश एससी- एसटी कोर्ट नम्रता तिवारी ने हत्या के मामला सिद्ध हो जाने के बाद अभियुक्त लल्लू खान एवं गुड्डू खान को सश्रम आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही न्यायाधीश ने 50 हजार रूपये की जुर्माना प्रत्येक अभियुक्त को लगाई है। लल्लू खान को आ‌र्म्स एक्ट के तहत तीन वर्ष कठोर कारावास एवं पांच हजार रुपये आर्थिक दंड की सजा दी है। सभी सजाएं साथ-साथ चलेंगी। उक्त जानकारी एससी-एसटी एक्ट के विशेष लोक अभियोजक अशोक चौधरी ने दी। उन्होंने बताया कि राजनीतिक विवाद के कारण उप मुखिया विनोद पासवान की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।घटना 15 जनवरी 2018 की है। बेलागंज थाना के अक्थू पंचायत के उप मुखिया विनोद पासवान की हत्या गोली मारकर कर दी गई थी। घटना का कारण राजनीति विवाद बताया जाता है, तत्कालीन मुखिया सदफ मिनहाज पर उप मुखिया विनोद पासवान ने यह आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री के सात निश्चय योजना में मनमाने ढंग से कार्य कराया जा रहा है, जो गलत है। इसी विरोध का विवाद बढ़ता चला गया और परिणीति के हिसाब में उप मुखिया विनोद पासवान की गोली मारकर हत्या कर दी गई। लोक अभियोजक अशोक चौधरी ने बताया कि मृतक की पत्नी कैली देवी ने पुलिस बताई थी कि पति के द्वारा विरोध करने पर विवाद बढ़ता गया। उसी के कारण पति की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस मामले में मृतक की पत्नी ने लल्लू खान एवं गुड्डू खान को नामजद करते हुए बेलागंज थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। अभियोजन की ओर से कुल सात गवाहों की गवाही न्यायालय के समक्ष कराई गई ।अभिलेख पर उपस्थित गवाहों के बयानात और साक्ष्य के आधार पर अभियुक्तों को सजा सुनाई गई है।

Edited By: Jagran