औरंगाबाद, जागरण संवाददाता। कई राज्‍यों में एटीएम काटकर रुपये चोरी करने वाले गिरोह के दो सदस्‍यों को औरंगाबाद पुलिस हैदराबाद से लाई है। इन अपराधियोंं ने ही शहर के महाराजगंज रोड महाकाल मंदिर के पास स्थित आइडीबीआइ बैंक (IDBI Bank) का एटीएम काटकर करीब 21 लाख रुपये की चोरी की थी। गिरफ्तार किए गए अपरा‍धी उत्‍तरप्रदेश और हरियाणा के रहने वाले हैं। बुधवार को कोर्ट में पेश करने के बाद उनलोगों काे न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया।  जेल गए अपराधियों में वाहिद खान एवं मो. मुफीद शामिल हैं। मुफीद यूपी के मथुरा जिले के मोसी थाना के नांगला उटावट का जबकि वाहिद हरियाणा के पलवल जिला के मुनकरी थाना के सराय सटेला का निवासी है।

एटीएम चोरी मामले में हैदराबाद के जेल में थे बंद 

दोनों वर्तमान में हैदराबाद के चेरलापल्ली जिला जेल में बंद थे। वहां एटीएम काटकर नकदी चोरी करने के मामले में दोनों को चेरलापल्ली पुलिस नेे गिरफ्तार कर जेल भेजा था। दोनों शातिरों ने वहां की पुलिस के समक्ष कई राज्यों में एटीएम काटकर रुपये चोरी करने की घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की थी। बीते वर्ष 19 नवंबर की रात में शहर के आइडीबीआइ बैंक एटीएम कांड में भी दोनों ने अपनी संलिप्तता वहां की पुलिस को बताई थी। इसके बाद हैदराबाद के चेरलापल्ली जिला पुलिस कप्तान ने औरंगाबाद एसपी सुधीर कुमार पोरिका से संपर्क किया।

हरियाणा का है यह गिरोह 

एसपी ने बताया कि हैदराबाद से लाए गए दोनों लुटेरे मेवाती गिरोह के सदस्य हैं। यह गिरोह हरियाणा का है जो बिहार, झारखंड, यूपी, गुजरात, आंध्रप्रदेश, तेलंगना, मध्य प्रदेश, राजस्थान तक में फैला है। गिरोह का मुख्य धंधा एटीएम काटकर रुपये चोरी करना है। बताया कि दोनों को कोर्ट के आदेश पर हैदराबाद से यहां लाया गया है। कोर्ट के आदेश पर दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। एसपी ने बताया कि हैदराबाद के चेरलापल्ली पुलिस के समक्ष दोनों शहर के आइडीबीआइ बैंक का एटीएम काटकर रुपये चोरी करने की घटना में संलिप्तता स्वीकार की है, और उसी बयान के आधार पर दोनों को हैदराबाद से यहां लाया गया है।