जागरण संवाददाता, सासाराम (रोहतास)। गुरुवार की सुबह जिला मुख्यालय से सटे दरिगांव थाना क्षेत्र के नौगाई गांव में एक किसान ने आर्थिक तंगी में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या किए जाने की खबर से ग्रामीण सहित शहर में सनसनी फैल गई। किसान का शव पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया । वहीं पिता की मौत के सदमे में आकर बेटी ने जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। उसे चिंताजनक हालत में शहर के एक निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया है।

50 हजार बिजली बिल का नहीं कर पा रहे थे भुगतान

आत्महत्या करने वाले किसान दिनेश सिंह दरिगांव थाना क्षेत्र के नौगाई निवासी राम सिंहासन सिंह के पुत्र थे। प्रथम दृष्टया आत्महत्या किए जाने के पीछे 49 हजार 818 रुपये का बिजली बिल बकाया होने की बात ग्रामीण बता रहे हैं। आर्थिक तंगी के कारण किसान  बकाया बिजली बिल का भुगतान  नहीं कर पा रहा था। मिले कागजात के मुताबिक दिनेश सिंह का उपभोक्ता नंबर 22 3500 4918 5 है जिसमें 28620 रुपए का विद्युत बिल बकाया था। विलंब के कारण विद्युत बिल के अधिभार के तौर पर 19850 रुपए को जोड़ते हुए कुल बकाया राशि के तौर पर 48471 रुपए के साथ-साथ अन्य विभागीय चार्ज जोड़कर 49818 रुपए का बिल किसान को थमाया गया था । आर्थिक बोझ दबा किसान  बकाया  बिजली बिल  दे पाने में सक्षम नहीं हो पा रहा था ।

बेटी की हालत बनी हुई है चिंताजनक

विभाग की ओर से बकाया बिजली बिल भुगतान करने के लिए काफी दबाव बनाया जा रहा था। इधर घटना के बाद से परिवार में मातम पसर गया है। किसान की छह बेटियां है उनमें से दो विवाहित हैं। चार बेटियां अविवाहित हैं। उनमें से एक ने पिता की मौत के सदमे के कारण आनन-फानन में कीटनाशक दवा पीकर आत्महत्या प्रयास किया है। उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। निजी अस्‍पताल में इलाज चल रहा है। 

यह भी पढ़ें- बिजली का बिल देखकर गोलगप्‍पा बेचने वाले के फूले हाथ-पांव, कहा-पूरी जिंदगी में भी नहीं चुका पाउंगा

Edited By: Vyas Chandra