जासं, कैमूर। जिस महिला की हत्‍या का आरोप ससुरालवाले झेल रहे थे। जिसे करीब तीन साल से मृत माना जा रहा था। वह जीवित भी है और सही-सलामत भी। भभुआ थाना के रुइया गांव के पप्पू साह की पुत्री खुशबू  देवी नामक उक्त महिला को पुलिस ने उत्‍तरप्रदेश से बरामद किया गया है। वह अपने रिश्‍ते के जीजा के साथ वहां रह रही थी। उसकी बरामदगी से हत्‍या का आरोप झेल रहे ससुरालवालों ने राहत की सांस ली है। इस मामले में पुलिस का अनुसंधान भी काबिले तारीफ रहा जिससे एक निर्दोष फंसने से बच गया।

पति और ससुरालवालों पर दर्ज हुई थी हत्‍या की प्राथमिकी

खुशबू देवी की शादी कुदरा थाना के  देवराढ़ कला गांव के चिरकुट साह के पुत्र संदीप साह से हुई थी। शादी के बाद ससुरालवालों से उसकी ठीक से बन नहीं रही थी। मई 2018 में वह गायब हो गई। इसी दौरान कुदरा थाना के बसहीं नहर के पास खेत में एक महिला का शव बरामद किया गया था। मायके वालों ने उसकी पहचान अपनी बेटी खुशबू के रूप में की। इसको लेकर उसके पति समेत ससुराल वालों पर कुदरा थाना में हत्या की प्राथमिकी दर्ज करा दी। उसके बाद से कुदरा थाने की पुलिस मामले की जांच-पड़ताल में जुटी रही। वैज्ञानिक अनुसंधान में पुलिस को इस बात के ठोस सबूत मिले कि खुशबू देवी जीवित है।

वैज्ञानिक अनुसंधान से पुलिस को मिली सफलता

आखिरकार कुदरा थाना की पुलिस ने उसे बरामद कर लिया। थानाध्यक्ष अजय कुमार ने बताया कि वह अपने रिश्ते के जीजा के साथ उत्तर प्रदेश में रह रही थी। अनुसंधानकर्ता सचिन कुमार ने बताया कि घटना के बाद मोबाइल टॉवर से पता चला कि जिसे आरोपित किया गया है, घटना के समय उसका लोकेशन कहीं और था। साथ ही वे लोग खुद को निर्दोष बता रहे थे। पुलिस आरंभ से मामले को संदिग्‍ध मानकर चल रही थी। बहरहाल पुलिस ने मोबाइल के सहारे खुशबू तक पहुंचने में सफलता प्राप्‍त की है। पुलिस टीम विवाहिता और उसके रिश्ते के जीजा को थाना ले आई है। वरीय अधिकारियों के निर्देश के अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।

तीन वर्षों से यूपी में रहती थी अपने जीजा के साथ  

बताया जाता है कि खुशबू देवी अपने रिश्ते के जिस जीजा के साथ रह रही थी उसका नाम मृत्युंजय गुप्‍ता है। वह उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिला के जमानिया थाना के धरोहिया गांव के राज नारायण गुप्ता का पुत्र है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि मृत्युंजय गुप्ता भी पूर्व से शादीशुदा है। पहली पत्‍नी से उसे दो बच्चे भी हैं। उसे छोड़कर वह खुशबू के साथ अधौरा से सटे सोनभद्र जिला के एक गांव में रह रहा था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप