संस, नवादा : शराब की टोह में छापेमारी करने पहुंची उत्पाद विभाग की टीम ने ग्रामीणों की पिटाई कर दी। जिससे दस लोग जख्मी हो गए। मामला मुफस्सिल थाना क्षेत्र के रामगढ़ बलोखर गांव से जुड़ा है। पिटाई से जख्मी लोगों ने सदर अस्पताल पहुंच कर अपना इलाज कराया। जख्मियों में मुकेश कुमार, राकेश कुमार, चंदन मांझी, विरंची मांझी, सरयुग मांझी, नरेश मांझी, राहुल कुमार, सुखदेव मांझी, सुमन मांझी एवं रामानंद मांझी शामिल हैं। 

ग्रामीणों ने बताया कि शनिवार की देर रात तकरीबन डेढ़-दो बजे के आसपास पुलिस छापेमारी करने पहुंची थी। लोग अपने-अपने घरों में सो रहे थे। टीम में शामिल लोगों ने लोगों के घर का दरवाजा खट-खटाकर खुलवाया और घरों में घुसकर तलाशी लेने लगे। सभी शराब खोज रहे थे। लेकिन किसी भी घर से शराब नहीं मिली। इसके बाद उन लोगों ने पिटाई करना शुरू कर दिया। लाठी-डंडे बरसाए गए। फिर शराब नहीं मिलने पर मारपीट करने के बाद छापेमारी टीम वापस लौट गई। 

घायलों ने छापेमारी टीम पर लूटपाट का भी आरोप लगाया। इस घटना से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। इस मसले पर उत्पाद निरीक्षक आदित्य कुमार ने कहा कि गांव में टीम छापेमारी करने गई थी। लेकिन ग्रामीणों के साथ मारपीट का आरोप बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि टीम जब भी किसी गांव में छापेमारी करने जाती है तो इस प्रकार का बेबुनियाद आरोप लगाया जाता है।

Edited By: Prashant Kumar Pandey