जांस, भभुआ: जिले के किसान परंपरागत खेती से हटकर मशरूम की खेती कर स्वावलंबी बनेंगे। कृषि प्रौद्योगिकी विकास अभिकरण आत्मा के तत्वावधान में किसानों को मशरूम उत्पादन की तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराने की कवायद शुरू की गई है। जिले के सभी 11 प्रखंड क्षेत्रों के अंतर्गत दो-दो किसान पाठशालाओं का आयोजन कर प्रगतिशील किसानों को प्रशिक्षकों के द्वारा जानकारी दी जाएगी।

महिला व पुरुष कृषि उत्पादक संगठन को भी किया जा रहा गठित 

इस संबंध में आत्मा के उप परियोजना निदेशक नवीन कुमार सिंह ने बताया कि जिले में अगले माह सभी 11 प्रखंड क्षेत्रों में दो -दो किसान पाठशाला आयोजित होंगी। पाठशाला में प्रगतिशील किसानों को चयनित कर उन्हें मशरूम की खेती करने के संबंध में प्रशिक्षकों द्वारा जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। परियोजना निदेशक ने कहा कि प्रत्येक पाठशाला में 25-25 किसान शामिल होंगे। इसके अलावा एक संचालक तथा दो प्रशिक्षक शामिल रहेंगे। उन्होंने बताया कि प्रत्येक पाठशाला में किसानों को छह सत्रों के माध्यम से प्रशिक्षक जानकारी देंगे। कैमूर जिले में महिला व पुरुष कृषि उत्पादक संगठन को भी गठित करने का काम किया जा रहा है।

Edited By: Prashant Kumar Pandey