गया। भारत विकास परिषद के सेवा और संस्कार कार्य को बढ़ाने के लिए प्रथम क्षेत्रीय सम्मेलन में रविवार को संगठन के विस्तार पर चर्चा की गई।

इस दौरान जिले में शाखा खोलने का निर्णय किया गया। पटना में भारत विकास परिषद के दिव्याग हॉस्पिटल की ही तरह एक हॉस्पिटल के लिए प्लाट देखने का निर्णय हुआ, जहा दिव्यागों की निश्शुल्क सर्जरी और उपचार हो सके। अगले दो सालों में स्किल डेवलपमेंट तथा गरीब बच्चों को कोचिंग की व्यवस्था करने पर विचार किया गया। बेहतर काम करनेवाले प्रांत को मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। सम्मेलन में स्मारिका बोधिसत्व का विमोचन राष्ट्रीय नवनिर्वाचित अध्यक्ष डॉ. एससी गुप्ता, उपाध्यक्ष एसएन पाडा व राष्ट्रीय सचिव बाल्मीकि कुमार, दीपक रुइया, पीके अम्बष्ठ, जीपी सिंह, संजोजक डॉ. रविन्द्र कुमार, प्रातीय अध्यक्ष डीके शर्मा, प्रातीय सचिव श्याम नारायण सिंह, वित्त सचिव अमृतेश कुमार, मुख्य संपादक प्रो. बीकेपी वर्मा ने किया। इस मौके पर देवनाथ मेहरवार, शिव कुमार शर्मा, जयराम सिंह, प्रो. बीएन राय, प्रदीप कुमार, डॉ. उमेश वर्मा, उपेंद्र नाथ वर्मा प्रो. रामसिंहासन सिंह एवं ओडिशा, झारखंड व बिहार के प्रतिनिधि उपस्थित थे। मगध बिहार प्रांत के संजोजक डॉ. रविन्द्र कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

By Jagran