संजय कुमार, गया

धार्मिक स्थलों को विकसित करने के लिए हृदय योजना के तहत सुंदरीकरण के कार्य किए जा रहे हैं। शहर के उत्तर मानुष सरोवर और मानपुर स्थित फल्गु नदी के तट पर स्थित सीताकुंड के सुंदरीकरण का कार्य काफी तेजी से चल रहा है। जनवरी तक सुंदरीकरण कार्य पूरा होने की संभावना है। हृदय योजना के आर्किटेक्चर अभिषेक कुमार ने कहा कि सीताकुंड और उत्तर मानुष सरोवर का सुंदरीकरण का कार्य 7.96 करोड़ रुपये की लागत हो रहा है। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) की पहल पर यह संभव हुआ है। नगर निगम की देखरेख में कार्य हो रहे हैं। दोनों स्थल के सुंदरीकरण होने होने से पितृपक्ष के अलावा आम दिनों में आने वाले पिंडदानियों को किसी तरह की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा। सुंदरीकरण होने से तीर्थयात्रियों को सभी सुविधाएं मिलेंगी। प्याऊ से लेकर शौचालय तक का निर्माण किया जाएगा।

-----------

सीताकुंड में हो रहे विकास कार्य

सीताकुंड में कई कार्य किए जाएंगे। फल्गु नदी के तट पर डेढ़ सौ फीट घाट का निर्माण, एक यात्री शेड, लाइट, तीन मुख्य द्वारा का निर्माण किया गया। एक मुख्य द्वार बाइपास से, दूसरा सलेमपुर गांव की तरफ से तथा तीसरा फल्गु नदी की तरफ बनेगा। पूरा परिसर में लाल पत्थर लगाए जाएंगे। मंदिर के पास स्थित पार्क में चबूतरा, पाथ-वे, प्याऊ, गेट एवं चहारदीवारी के निर्माण किए जा रहे हैं।

------------

उत्तर मानुष सरोवर में लगेंगे

वाटर ट्रीटमेंट प्लांट

हृदय योजना के तहत उत्तर मानुष सरोवर में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लगाने के साथ कई अन्य कार्य किए जाएंगे। इनमें घाट का निर्माण, पूरे परिसर में लाल पत्थर, एक यात्री शेड, चेजिंग रूम, लाइट एवं एक मुख्यद्वार का निर्माण किया जाएगा।

------------

चार स्वागत द्वार

योजना के तहत शहर में चार वेलकम द्वारा का भी निर्माण किया जाएगा। इनमें गया-पटना सड़क पर कंडी गांव के पास, सिकड़िया मोड़, मानपुर प्रखंड कार्यालय एवं डेल्हा में वेलकम द्वार का निर्माण किया जाना है।

-----------

सीताकुंड और उत्तर मानुष सरोवर में जारी सुंदरीकरण कार्य जनवरी तक पूरा हो जाएगा। सुंदरीकरण कार्य होने से तीर्थयात्रियों को अब किसी तरह की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा।

ईश्वर चंद शर्मा, नगर आयुक्त

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप