गया। शेरघाटी अनुमंडलीय अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए 70 बेड का आइसोलेशन सेंटर बनाया गया है। अस्पताल उपाधीक्षक राजेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि कोरोना से निपटने के लिए अस्पताल में जांच एवं इलाज के लिए उचित सुविधा उपलब्ध करा दी गई है। उन्होंने कहा कि शुरुआत समय से ही जांच और बचाव के लिए उपयुक्त दवा एवं वेंटीलेटर और ऑक्सीजन मास्क जैसे उपकरण अस्पताल में उपलब्ध है। अस्पताल के स्वास्थ्य कर्मचारी हौसले के साथ इस चुनौती से लड़ते हुए कोरोना संक्रमित मरीजों की सेवा कर रहे हैं। वर्तमान समय में पर्याप्त मात्रा में कोरोना जांच किट और अतिरिक्त टीका भी मौजूद है। दवाइयां वेंटिलेटर ऑक्सीजन का प्लांट अस्पताल में उपलब्ध है। प्रारंभ से लेकर अब तक शेरघाटी प्रखंड एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 10 हजार लोगों के स्वाव सैंपल लेकर जांच की गई है। जांच का क्रम अब भी जारी है। बावजूद इसके हमारे समक्ष कई चुनौतियां हैं। संक्रमित मरीज और उनके स्वजन को सार्थक सहयोग करने की आवश्यकता है। कोरोना का इलाज बड़ी ही सावधानी पूर्वक किया जा सकता है। इससे डरने की नहीं बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मंगलवार को किए गए रैपिड एंटीजन जांच में 249 लोगों में 52 पॉजिटिव आया है। इसमें नगर परिषद क्षेत्र के 21,ग्रामीण क्षेत्र के 12 एवं अन्य प्रखंडों से आए मरीजों में 19 संक्रमित पाए गए हैं। इस प्रकार शेरघाटी में अब तक 280 संक्रमित मरीजों की संख्या हो गई है।

-------

छह कंटेनमेंट जोन क्रियाशील

उपाधीक्षक डॉ. सिंह ने बताया कि नगर परिषद क्षेत्र अंतर्गत कठार, नई बाजार निकट गौतम बुद्धा स्कूल, शेखपुरा, जगरनाथ कॉलोनी, सत्संग नगर एवं मुंशी टोला में कंटेनमेंट जोन क्रियाशील है। यहां लोगों को अपने ही क्षेत्र में रहने की सलाह दी गई है। साथ ही बाहर से आने-जाने वालों पर पाबंदी लगाई गई है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021