डेहरी आन सोन (रोहतास), संवाद सहयोगी। रोहतासगढ़ फाउंडेशन के बैनर तले रोहतास किला परिसर में सोमवार को शाहाबाद महोत्सव  को लेकर स्थानीय ग्रामीणों द्वारा गोष्ठी का आयोजन किया गया । महोत्सव तीन से पांच दिसंबर तक आयोजित किया जाएगा। रोहतासगढ़ फाउंडेशन के अध्यक्ष राजबली सिंह ने कहा कि रोहतास किला हमारे पूर्वजों का अमूल्य धरोहर है। इससे हमारा अस्तित्व जुड़ा हुआ है।  रोहतासगढ़ किला एवं क्षेत्र में बसने वाले अनुसूचित जनजातियों के विकास के बिना  सम्पूर्ण जिले का विकास असंभव है। इन्हें संरक्षित एवं सुरक्षित रखना हमारा कर्तव्य है। जबकि रोहतासगढ़ आने वाले एक-एक पर्यटक हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। उनका हर संभव सहयोग करने का दायित्व हमारा है।

कार्यक्रम के प्रथम दिन सोन आरती दूसरा दिन सोन घाटी के संस्कृति और इतिहास पर परिचर्चा तीसरे दिन शाहाबाद महोत्सव के मुख्य कार्यक्रम होंगे। बैठक में गावों की समिति का भी गठन किया गया। अध्यक्षता रोहतास गढ़ के पूर्व मुखिया मोती उरांव व संचालन  पैक्स अध्यक्ष महावीर यादव ने किया । कहा कि तीन से पांच दिसंबर तक गृह विभाग के विशेष सचिव  विकास वैभव के नेतृत्व में रोहतासगढ़ प्रांगण में शाहाबाद महोत्सव का आयोजन सुनिश्चित है। इसे हर संभव सफल बनाने का निर्णय लिया गया । रोहतासगढ़ फाउंडेशन के संयोजक  कृष्णा सिंह की देखरेख में नागाटोली व बभनतलाब में 11 सदस्यीय कार्यकारिणी समिति का गठन किया गया । कार्यकारिणी समिति बभनतलाब के अध्यक्ष नंदकिशोर यादव, सचिव संजय यादव, कोषाध्यक्ष सुरेंद्र उरां , नागाटोली के अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार, सचिव  प्रदीप उरांव, कोषाध्यक्ष मदन उरांव को सर्वसम्मति से चयनित किया गया । गोष्ठी में कामता यादव, मनोज उरांव, अमरदीप चौधरी, पीपीसी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य  अरविंद कुमार सिंह, प्रवीण कुमार, अजय कुमार यादव, अवधेश यादव, उमेश पासवान, अनुज राम, अजय राम सहित कई ग्रामीण उपस्थित थे ।

Edited By: Sumita Jaiswal