औरंगाबाद, जागरण संवाददाता। जम्होर थाना क्षेत्र के बरौली गांव में राजेंद्र पांडेय के पुत्र दीपक कुमार की शादी झारखंड के चतरा जिले के हंटरगंज थाना के बेला बेलुरी गांव में तय हुई थी। लड़की के पिता गया प्रसाद सिंह ने 22 लाख रुपये में शादी तय की थी। 10 लाख रुपये दहेज में दिया था, परंतु बाद में दीपक के स्वजनों ने शादी से इंकार किया।

शुक्रवार को लड़की के पिता ने जम्होर थाना में इससे संबंधित प्राथमिकी दर्ज कराई है। अपने बयान में कहा है कि बेटी को पटना में देखने के बाद शादी तय हुई थी। 10 लाख रुपये अग्रिम दिया था परंतु बाद में 30 लाख रुपये की मांग करने लगे। देने से इंकार किया तो शादी नहीं की। पैसा के लिए दौड़ाते रहे। 16 अक्टूबर 2021 को गांव में प्रतिष्ठित लोगों के साथ समझौता हुआ फिर भी पैसा देने से इंकार किया। हद यह कि दुष्कर्म के केस में फंसाने की धमकी देने लगे।

थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि मामले में प्राथमिकी दर्ज कर तहकीकात की जा रही है। दीपक कुमार के अलावा उनके पिता राजेंद्र पांडेय, आरती कुमारी उर्फ दीपा एवं राजेंद्र पांडेय की पत्नी नामजद आरोपी बने हैं।

घर से फरार दो नाबालिग राजस्थान से बरामद

 औरंगाबाद नगर थाना क्षेत्र के रामडीहा मोहल्ला से 24 अगस्त 2021 को फरार हुई दो नाबालिग बहनों को पुलिस ने राजस्थान से बरामद किया है। दोनों नाबालिग यहां से भागकर दिल्ली के रास्ते राजस्थान चली गई थी। दोनों ने पुलिस को बताया कि घर में स्वजन पढऩे के लिए दबाव बनाते थे। हमलोग पढऩा नहीं चाहते थे जिस कारण घर से भाग गए। वहां एक घर में रह रहे थे जिसका नाम नहीं जानते हैं। मोबाइल पर स्वजनों को सूचना दी तो पुलिस के साथ पिता पहुंचे और वहां से बरामद कर औरंगाबाद लाया। बताया जाता है कि 16 अक्टूबर को पुलिस ने राजस्थान से बरामद कर गुरुवार को औरंगाबाद लाया था। यहां न्यायालय में बयान कराने के बाद स्वजनों को सौंप दिया। दोनों नाबालिग को बेचने की चर्चा हो रही थी जिस पर विराम लगाते हुए एसपी कांतेश कुमार मिश्र ने कहा कि ऐसी कोई बात अब तक सामने नहीं आई है।

Edited By: Sumita Jaiswal