डेहरी-ऑन-सोन (रोहतास), संवाद सहयोगी। रोहतास पुलिस ने फरार चल रहे एक हार्डकोर नक्सली को शनिवार को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली  घुरहु कहार उर्फ नागेंद्र उर्फ तुफानी बघैला थाने में पुलिस कर्मियों की हत्या कर हथियार लूटने के मामले में नामजद अभियुक्त है।

एसपी आशीष भारती ने बताया कि नक्सली घुरहु कहार उर्फ नागेंद्र उर्फ तुफानी को बघैला थाना क्षेत्र के चनकी गांव से नशे की हालत में गिरफ्तार किया गया है। एसपी ने बताया कि यह हार्डकोर नक्सली 2007 में बघैला थाना का भवन, वायरलेस टावर उड़ाने और पुलिसकर्मियों की हत्या कर हथियार लूटने के मामले में वांछित था। उन्होंने बताया कि आरोपी के ऊपर जिले के बघैला थाने में तीन मामले दर्ज हैं।  इस नक्सली का प्रभाव रोहतास जिले के आस पास के इलाके अलावा अन्य प्रदेशों में होने की संभावना है। इसके कारण इलाके में भय व्याप्त था।

उन्होंने बताया कि पुलिस को पूछताछ में गिरफ्तार नक्सली से कई अहम जानकारी मिली है। जिससे जिले के नक्सली गतिविधियों के रोकथाम और शांतिपूर्ण पंचायत चुनाव सम्पन्न कराने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि छापेमारी दल में शामिल पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत किया जाएगा।  गिरफ्तार नक्सली के आपराधिक इतिहास की जानकारी अन्य प्रदेश से भी ली जा रही है।

आचार संहिता उल्लंघन में निवर्तमान मुखिया गिरफ्तार, थाना से ही मिली जमानत

सासाराम जिले के काराकाट प्रखंड कार्यालय पर शनिवार को नामांकन पत्र दाखिल करने आए आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के आरोपित निवर्तमान मुखिया अफरोज आलम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जमानतीय धाराओं में आरोप होने के चलते उन्हें थाना से ही जमानत पर छोड़ दिया गया। मुखिया समर्थकों के अनुसार नामजदगी का पर्चा दाखिल करने बाद ही पुलिस उन्हें लेकर थाना चली गई। बाद में उन्हें निजी मुचलका पर छोड़ दिया गया। थानाध्यक्ष अनिल प्रसाद के अनुसार कुछ दिनों पूर्व बीडीओ के निर्देश पर अफरोज आलम के विरुद्ध आदर्श आचार संहिता उल्लंघन करने को ले प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। जमानतीय धारा होने के चलते थाना से ही उन्हें जमानत दे दी गई।

 

Edited By: Sumita Jaiswal