पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। बिहार की राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार में भारतीय जनता पार्टी (BJP) भी शामिल है, लेकिन वह समय-समय पर अपनी ही सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल भी उठाती रही है। राज्‍य की कानून-व्‍यवस्‍था (Law and Order) पर कई बार सवाल उठा चुकी बीजेपी ने अब कोरोनावायरस संक्रमण (CoronaVirus Infection) से बचाव के उपायों को नाकाफी बताते हुए सरकार काे घेरा है। बिहार सरकार के पूर्व शिक्षा मंत्री और विधायक डॉ. मेवालाल चौधरी (Mewa Lal Chaudhary) के कोरोनावायरस संक्रमण से निधन पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी नेता व पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी (Samrat Chaudhary) ने अपनी ही सरकार और बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था को कटघरे में खड़ा कर दिया है। इसपर जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने भी पलटवार किया है।

तारापुर से विधायक थे मेवालाल, पटना में हुआ निधन

पूर्व मंत्री व जेडीयू के तारापुर से विधायक डॉ. मेवालाल चौधरी की कोरोनावायरस संक्रमण के कारण मौत हो गई है। डॉ. मेवलाल चौधरी बिहार की वर्तमान एनडीए सरकार में शिक्षा मंत्री बनाए गए थे, लेकिन उनपर लगे घोटालों के आरोपों के कारण इसका विरोध होन पर उन्‍हें इस्‍तीफा देना पड़ा था। हाल ही में वे कोरोनावायरस संक्रमण के शिकार हो गए थे। इलाज के दौरान पटना के पारस अस्‍पताल में उनका निधन सोमवार की सुबह हो गया।

बीजेपी के मंत्री के निशाने पर अपनी ही नीतीश सरकार

मेवालाल चौधरी के निधन पर बिहार में सियासत गरमा गई है। सरकार में शामिल बीजेपी नेता व पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने भी बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था को कटघरे में खड़ा किया है। मंत्री सम्राट चौधरी ने सवाल उठाया है कि जब हम अपने विधायक और सांसद को नहीं बचा सकते, तो आम लोगों को कैसे बेहतर स्वास्थ्य सुविधा दे सकते हैं?

आरजेडी का आरोप: हाथ पर हाथ धरे बैठी है सरकार

उधर, राष्‍ट्रीय जनता दल के विधायक मुकेश रौशन ने कहा कि कोरोनावायरस संक्रमण से लोगों की जान जा रही है और सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी हुई है।

यह भी पढ़ें: नीतीश सरकार में एक दिन के लिए शिक्षा मंत्री रहे मेवालाल चौधरी का निधन, तीन दिन पहले आए थे कोरोना की चपेट में

नीतीश सरकार के बचाव में जेडीयू ने संभाला मोर्चा

कोरोनावायरस से बचाव व उसके इलाज को लेकर सियासी निशाने पर आई नीतीश कुमार की सरकार के बचाव में जेडीयू ने मोर्चा संभाल लिया है। जेडीयू के एमएलसी कुमुद वर्मा ने मंत्री सम्राट चौधरी और आरजेडी विधायक मुकेश रौशन के बयानों पर कहा कि कोरोनावायरस संक्रमण का इलाज मरीज के कद या पद को देखकर नहीं किया जा रहा है। सबों को समान रूप से बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा दी जा रही है। खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पूरी व्यवस्था की मॉनीटरिंग कर रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठाना ठीक नहीं है।

मेवालाल के निधन पर सीएम नीतीश ने जताया शोक

विदित हो कि मेवालाल चौधरी के निधन पर कई राजनेताओं ने शोक व्‍यक्‍त किया है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपनी शोक संवेदना में उन्‍हें एक कुशल राजनेता, प्रसिद्ध शिक्षाविद और प्रख्यात समाजसेवी बताया है। उनका अंतिम संस्‍कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021