गया। नवादा जिले के अकबरपुर प्रखंड के अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जलालपुर की स्थिति बदतर हो गई है। यहां चिकित्सक के नहीं आने से मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जलालपुर की स्थिति खराब है। यहां पदस्थापित चिकित्सक हमेशा बिना सूचना के गायब रहते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि 3 वर्ष पूर्व यह केंद्र नियमित खुलता था। मरीजों की जांच व इलाज समय पर हुआ करता था। दवाइयों का वितरण भी रोगियों के बीच की जाती थी। लेकिन नये चिकित्सक की पदस्थापना के बाद केंद्र की हालत बदतर स्थिति में पहुंच गई है। चिकित्सक के नहीं रहने से मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। केंद्र के नहीं खुलने से मरीज परेशान हैं। सर्वाधिक परेशानियां बीमार बच्चों को झेलनी पड़ रही है। दूर- दराज से पहुंचे मरीजों को बिना इलाज करवाए घर लौट जाना पड़ता है। सरकारी दवाएं भी भरपूर मात्रा में केंद्र में उपलब्ध है। परंतु चिकित्सक के नहीं रहने से मरीजों को विवश होकर अकबरपुर पीएचसी और नवादा सदर अस्पताल इलाज के लिए जाना पड़ रहा है। खासकर गरीब तबके लोग सर्वाधिक आर्थिक परेशानियां झेलने को विवश हैं। श्यामसुंदर सिंह, राम सागर प्रसाद यादव आदि ग्रामीणों ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और सिविल सर्जन के पास अलग- अलग आवेदन पत्र देकर अतिरिक्त प्राथमिकी स्वास्थ्य केंद्र जलालपुर में स्थाई रूप से चिकित्सक की व्यवस्था सुनिश्चित करवाने की मांग की है। ताकि मरीजों को आर्थिक परेशानियों से बचाया जा सके।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस