गया । बिहार के मोतिहारी जिले के अगरवा मोहल्ला निवासी ऑसफ तेहमी का सपना भी साकार हो गया। चार वर्ष के कठिन परिश्रम के बाद सैन्य अधिकारी बने। पासिंग आउट परेड के दौरान माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद थे। पारिवारिक सदस्य भी इस ऐतिहासिक क्षण के गवाह बने। सैन्य अधिकारी बनने के बाद परिवार को खुशी का ठिकाना नहीं रहा। पूरा परिवार खुश था और अपने होनहार बेटे को गले लगा रहा था। ऑसफ कहते हैं, कठिन परिश्रम और परिवार के सहयोग से इस मुकाम तक पहुंचे हैं। सैन्य अधिकारी बनकर वह देश की सेवा करेंगे।

Posted By: Jagran