गया । मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के साकेत नगर निवासी रामावतार अग्रवाल के पुत्र दीपांशु अग्रवाल को ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) गया में प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए शनिवार को रजत पदक से पुरस्कृत किया गया।

बैज लगते ही सेना में अधिकारी हो चुके दीपांशु ने कहा कि उन्होंने इसके लिए काफी मेहनत की थी। सेना में अधिकारी बनने का जज्बा था। कठिन मेहनत और सुबह से लेकर रात तक पूरी ईमानदारी के साथ प्रशिक्षण प्राप्त किया। प्रशिक्षण में कुछ गलतियां भी होती थीं, पर हार नहीं मानी। रात को जाग कर पूर्वाभ्यास किया। आज उसी का फल मिला है। उन्होंने बताया कि यहां प्रशिक्षण प्राप्त करने से पहले मुचरा आर्मी स्कूल में पढ़ाई की। वहां से ही प्रेरणा मिली। प्रतियोगी परीक्षा में सफल होने के लिए कड़ी मेहनत की। इससे पहले परिवार में कोई भी सेना में नहीं था। वे पहले व्यक्ति हैं, जो अपने परिवार में सैन्य अधिकारी बने हैं। उनकी एक ही प्राथमिकता है, राष्ट्र की सेवा और भारत की सीमा की रक्षा करना।

Posted By: Jagran