गया। कोविड-19 वैक्सीन की किल्लत के बीच जिलेवासी परेशान हैं। कल तक शासन-प्रशासन के अधिकारी लोगों से कोरोना से बचाव के लिए टीका लेने की अपील कर रहे थे। मौजूदा स्थिति ऐसी है कि लोग टीका लेने के लिए चाह रहे हैं लेकिन उन्हें सही तरह से वैक्सीन ही नहीं उपलब्ध हो रहा है। बीते दो दिनों से जिले भर में मात्र तीन जगहों पर ही टीका लगाया जा रहा है। बोधगया, शेरघाटी व गया जंक्शन परिसर स्थित नाइन टू नाइन सेंटर। गया शहर में एकमात्र टीकाकरण केंद्र पहला डोज की वैक्सीन के लिए गया जंक्शन ही फिलहाल है। लेकिन यहां लोगों की भीड़ इस कदर जुट रही है कि लोगों को एक टीका लगवाने के लिए घंटों तक का इंतजार करना पड़ रहा है। स्वास्थ्य कर्मी भी भीड़ अधिक रहने के कारण परेशान हैं। यहां सुबह नौ बजे से रात के नौ बजे तक टीकाकरण किया जाता है। यहां पहला डोज और दूसरा डोज दोनों ही टीका लगाया जा रहा है। लेकिन सबसे अधिक मुश्किल अधिक भीड़ को लेकर है। जिस अनुपात में लोग यहां आ रहे हैं वहां सुविधाएं नहीं दिखती। शुक्रवार को देर से कतार में खड़े मनोज कुमार ने कहा कि टीकाकरण की व्यवस्था को सुचारू करना चाहिए। शाम में करीब 4 बजे यहां कोई भी सुरक्षा जवान भी नहीं दिखे। लोग खुद से आपाधापी कर टीका लगवाने को आतुर दिखे। शारीरिक दूरी का पालन बिल्कुल भी नहीं हो रहा है।

-----------

बुनियादी सुविधाओं का दिखता अभाव, अतिरिक्त काउंटर बढ़ाने की दरकार

टीकाकरण केंद्र पर व्यस्त रहीं एक महिला स्वास्थ्य कर्मी ने कहा कि जिस तरह से लोग आपाधापी कर रहे हैं बहुत दिक्कत हो रही है। पहली शिफ्ट में रेलवे सुरक्षा बल के जवान रहते हैं लेकिन दूसरे शिफ्ट में नहीं रहते। गर्मी भी बहुत अधिक है। यहां पेयजल की सुविधा भी नहीं है। महिला सुनीता कुमारी ने कहा की टीका लगवाने में बहुत समय लग रहा है। व्यवस्था दुरुस्त किया जाना चाहिए। कोविन पोर्टल पर नाम, आधार कार्ड नंबर चढ़ाने में देरी होने की वजह से भी समय लग रहा है। जिस तरह से यहां भीड़ आ रही है यहां सुविधा के लिए अलग-अलग चार से छह काउंटर बनाने की दरकार है। इसके साथ ही वहां कर्मियों की संख्या भी बढ़ाए जाने की दरकार है।

------------

गया जंक्शन पर टीका लगवाने वालों का आंकड़ा 400 से पार जा रहा -डीआईओ कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार बीते गुरुवार को 440 लोगों को टीका लगा था। शुक्रवार को शाम 4 बजे तक 300 से अधिक टीकाकरण हो चुका था। बोधगया में गुरुवार को 5845 लोगों को टीका लगा था। तो वहीं शेरघाटी में 2545 लोगों को टीका लगा। शुक्रवार को भी इन दोनों जगहों पर करीब 5 हजार से अधिक टीका लगाया गया।

Edited By: Jagran