सासाराम, जागरण संवाददाता। सर्द मौसम ने दस्तक दे दी है। मौसम में बदलाव का असर सेहत पर भी पड़ने लगा है। मौसमी बीमारियों की वजह से मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। जिले के अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। अस्पताल पर पहुंचने वाले मरीजों में आधे से अधिक सर्दी, खांसी, निमोनिया व सांस फूलने की बीमारी से पीड़ित हैं। मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि होने से सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था नाकाफी साबित हो रही है। बच्चे, युवा व बुजुर्ग सभी इससे प्रभावित हो रहे हैं।

दिन में धूप निकलने से दिनभर मौसम सामान्य रहता है, लेकिन शाम ढलते ही ठंड बढ़ने लगती है। डाक्टरों के अनुसार इस सीजन में लापरवाही बरती गई तो यह घातक भी हो सकता है। वायरल फीवर होते ही उसकी जांच कराना जरूरी है। मंगलवार को अधिकतम तापमान 28 डिग्री व न्यूनतम 11 डिग्री के आसपास रहा। 

सावधानी ही है बचाव 

चिकित्सकों के अनुसार वायरल बुखार व खांसी छींकने और खांसने के दौरान एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। अगर मास्क पहनकर घर से बहार निकलें तो इन मौसमी बीमारियों की चपेट में आने से बचा जा सकता है। सदर अस्पताल के शिशु रोग व सामान्य ओपीडी में मंगलवार को चिकित्सक के पास काफी भीड़ लगी रही। किसी को बुखार से बदन दर्द की शिकायत थी तो कोई सर्दी खांसी की वजह से परेशान था। अस्पताल की दोनों ओपीडी में छह सौ से अधिक मरीजों ने इलाज के लिए पंजीयन कराया था। इनमें कुछ बीपी, शुगर व अन्य सामान्य बीमारियों के मरीज भी इलाज के लिए पहुंचे। बच्चों में नाक बहने, बुखार, सुस्त पडऩे खांसी आदि के लक्षण सर्वाधिक देखे गए। 

क्या कहते हैं डाक्टर

सदर अस्पताल विशेषज्ञ चिकित्सक डा. अभिषेक तिवारी का कहना है कि, ठंड में सावधानी बरतें, तो मौसम जनित बीमारी से बचा जा सकता है। आने वाले दिनों में ठंड का प्रकोप ओर बढ़ेगा। इस मौसम में गुनगुने पानी का सेवन करें। गर्म कपड़े पहनकर ही घर से निकलें। जयादा देर तक खाली पेट न रहें।  मधुमेह व ब्लड प्रेशर के मरीज विशेष सावधानी बरतें। 

तेजी पर है गर्म कपड़ों का बाजार

शाम ढलते ही सर्द मौसम का एहसास होने से गर्म कपड़ों के बाजार में तेजी आने लगी है। शहर के मुख्य बाजार व विभिन्न मालों में खरीदारों की चहल-पहल बढ़ गई है। ठंड से बचाव के लिए ऊनी टी-शर्ट, स्वेटर, मफलर शाल आदि कपड़ों से बाजार पट गया है। युवाओं में स्टाइलिश जैकेट, स्वेटर, टोपियां, स्कार्फ, दस्ताने आदि के प्रति विशेष आकर्षण हैं। 

Edited By: Rahul Kumar