औरंगाबाद,  जागरण संवाददाता। पति के अवैध संबंध का विरोध करना महिला को महंगा पड़ गया। पति ने अपने दोस्‍तों के साथ मिलकर पत्‍नी को ही बंधक बना लिया। हाथ-पैर बांधकर एक कमरे में बंद कर दिया। वे सभी हत्‍या करना चाहते थे। लेकिन शोर मचाने पर पहुंचे पड़ोसियों की वजह से उसकी जान बची। इस बाबत पीड़ति महिला ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसमें पति समेत उसके दो दोस्‍तों व एक महिला को भी आरोप‍ित किया है। आरोप है कि आरोपित महिला से पति के नाजायज संबंध हैं। 

हाथ-पैर बांधकर कमरे में कर दिया बंद 

आरोप है कि टंडवा थाना क्षेत्र के ईटवां गांव में चंद्रदीप साव ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर पत्नी फूला देवी को बंधक बना लिया। मामले की प्राथमिकी शनिवार को दर्ज कराई गई है। फूला ने अपने बयान में कहा है कि मेरे पति का पड़ोस की एक महिला से अवैध संबंध है। मेरे दो बच्चे हैं। जिस महिला के साथ मेरे पति का अवैध संबंध है उसके घर में हमें जबरदस्ती काम करने के लिए भेजते हैं। वहां हमें मारपीट एवं प्रताड़ित किया जाता है। मैंने जब इसका विरोध किया तो तीन दिन पहले पति ने अपने दोस्‍तों अरविंद सिंह, जनेश्वर सिंह एवं उस महिला के साथ मिलकर हमें बंधक बना लिया। हाथ-पैर बांधकर एक कमरे में बंद कर दिया। सभी मिलकर मेरी हत्या करना चाह रहे थे। लेकिन इसी दौरान वह जोर से चिल्लाने लगी। आवाज सुनकर पड़ोस के लोग पहुंचे तो किसी तरह उसकी जान बची। थानाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि मामले में महिला के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है। 

आग से झुलसकर महिला घायल

मदनपुर थाना क्षेत्र के वार गांव की महिला आरती उर्फ पूजा देवी रविवार की शाम आग से झुलसकर घायल हो गई है। स्थानीय ग्रामीणों द्वारा इलाज कराने को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंंद्र मदनपुर लाया गया।जहां रहे चिकित्सकों ने इलाज किया है। बताया जाता है कि पति गुलाब प्रसाद ने ही आग लगाकर जान से मारने का प्रयास किया है। मामले की सूचना थाना को दे दी गई है।

Edited By: Vyas Chandra