संवाद सहयोगी, शेरघाटी : प्रतिबंधित मास के टुकड़े की गुत्थी सुलझाने के मामले में अनुमंडल प्रशासन और पुलिस ने संयुक्त रूप से मंगलवार को नगर पंचायत कार्यालय में वार्ड पार्षदों और अवैध बूचड़खाने चलाने वालों के साथ गुप्त बैठक की। 20 वार्ड पार्षदों में उप मुख्य पार्षद सहित चार वार्ड पार्षद और चार के प्रतिनिधि शामिल हुए। बैठक में शामिल वार्ड पार्षद ने बताया कि एसडीओ उपेन्द्र पंडित व डीएसपी मनीश कुमार सिन्हा ने बुधवार से बूचड़खाने को बंद करने के सख्त निर्देश दिए हैं। एसडीओ ने कहा कि इस व्यवसाय से जुड़े लोगों ने रोजी रोटी का सवाल उठाया तो उन्हें आश्वासन दिया कि बैंक से पचास हजार का लोन दिलाया जाएगा। इससे वे कोई और धंधा शुरू कर सकते हैं। लेकिन अवैध बूचड़खाना नहीं चलेगा। कोई मीट की दुकान चलाना चाहता है तो लाइसेंस प्राप्त कर नगर पंचायत द्वारा चिह्नित स्थान पर चला सकता है। अन्यथा सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran