संसू, वारिसलीगंज, नवादा: पिछले एक दशक से झारखंड के जामताड़ा की भांति बदनाम हो चुका वारिसलीगंज क्षेत्र में एक बार फिर पुलिस ने जालसाजों के विरुद्ध बड़ी कार्यवाई की है। इसी कड़ी में गुरुवार की देर शाम नगर परिषद क्षेत्र के सिमरी बीघा-झौर मोड़ के बीच रहा बगीचा के पास स्थित एक गुमटीनुमा दुकान के पास से वारिसलीगंज पुलिस ने अत्याधुनिक मोबाईल तकनीक के आधार पर छापेमारी कर विभिन्न गांवों के सात साइबर जालसाजों को गिरफ्तार किया गया है।

सभी गिरफ्तार आरोपियों के पास से सायबर जालसाजी से जुड़े सात मोबाइल सेट व बड़ी संख्या में विभिन्न राज्यों के ठगे जाने वाले मोबाइल नंबरों एवं पता लिखें कागजात बरामद किया गया है। इस संबंध की जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष राजीव कुमार पटेल ने कहा कि मोबाइल लोकेशन के आधार पर सिमरी बीघा एवं झौर मोड़ के बीच स्थित बगीचा में साइबर जालसाजों के एकत्रित होने की सूचना मिली थी। 

पुलिस अधिकारियों की टीम गठित कर की छापेमारी 

सूचना बाद वारिसलीगंज पुलिस अधिकारियों की टीम गठित कर उक्त स्थान पर छापेमारी की गई। जहां से मोहिउद्दीनपुर पंचायत की भेड़िया निवासी छोटू कुमार, सिमरी बीघा ग्रामीण रविकांत कुमार, कोचगांव पंचायत की कांधा निवासी विरल कुमार, चकवाय ग्रामीण देवेंद्र कुमार, मोहिद्दीनपुर निवासी विपिन चौधरी, भेड़िया निवासी विक्रम कुमार, कांधा निवासी राजीव कुमार को जालसाजी करते गिरफ्तार करने में पुलिस सफल रही।

गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों के पास से ठगी में प्रयुक्त मोबाइल और बड़ी संख्या में देशभर के विभिन्न राज्यों के ठगी के शिकार होने वाले व्यक्ति का नाम व पता और मोबाइल नंबर अंकित कागजात जब्त किया गया है। गिरफ्तार सभी को आरोपियों को थाना लाया गया। थाना में जांच उपरांत ठगी में संलिप्त होने की बात सामने आने पर सभी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

Edited By: Prashant Kumar Pandey