गया : नगर निगम कार्यालय में शुक्रवार को शार्ट सर्किट से आग लगने से करीब 25 लाख रुपये का सामान जलकर नष्ट हो गया। फायर ब्रिगेड विभाग ने काफी मशक्कत के बाद करीब डेढ़ घंटे में आग पर काबू पाया। आग की चपेट में आकर नगर निगम कार्यालय का सभागार कक्ष पूरी तरह से नष्ट हो गया। साथ ही मेयर, डिप्टी मेयर एवं नगर आयुक्त के कार्यालय को भी आग नहीं नहीं छोड़ा। सभागार कक्ष में रखीं सभी कुर्सियां जलकर नष्ट हो गयी।

सभागार कक्ष में 60 से अधिक आरामदेह कुर्सियां लगी हुई थी। इसकी खरीदारी कुछ ही महीने पहले की गई थी। पूरी तरह जलकर नष्ट हो गयी। इसके साथ ही मेयर, डिप्टी मेयर एवं नगर आयुक्त के कक्ष की कुर्सियां भी जल कर नष्ट हो गई। सभागार कक्ष में लगे एयर कंडीशन, पंखा, टेबल, टेलीविजन एवं सोफा जलकर नष्ट हो गया। नगर आयुक्त सावन कुमार ने कहा कि बिजली के शॉर्ट सर्किट से आग लगी है। सुबह में कार्यालय बद रहने के कारण लोगों को पता नहीं चला। सभागार कक्ष से धुआं निकलने के बाद पता चला की आग लगी हुई है। उसके बाद फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। जिन्होंने तत्परता दिखाते हुए आग बुझाने का कार्य किया।

सभी कागजात सुरक्षित

आग ने सभागार कक्ष में रखी कुर्सियां एवं लकड़ी के बने सीलिग को पूरी तरह से जलाकर नष्ट कर दिया। उक्त सामग्री के अलावा कागज को कोई नुकसान नहीं हुआ। नगर आयुक्त ने कहा कि सभागार कक्ष में एक भी फाइल नहीं रहती है। सभी फाइलें शाखाओं में रहती है। जिसके कारण सभी कागजात सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा कि एक समाप्त में सभागार कक्ष के साथ तीनों चैंबर को बना दिया जाएगा। जिससे लोग बैठक कर काम कर सकेंगे।

---------------------------

टीम बनाकर घटना की होगी जांच

मेयर वीरेंद्र कुमार एवं डिप्टी मेयर अखौरी ओंकारनाथ उर्फ मोहन श्रीवास्तव ने कहा कि आग की घटना की जांच की जाएगी। इसके लिए एक टीम का गठन किया जाएगा। सभागार कक्ष की सफाई नौ बजे की गई है। उस समय कहीं से धुआं नहीं निकल रहा था। जबकि आधा घंटा में पूरा सभागार कक्ष कैसे जलकर नष्ट हो गया? घटना को जांच होने के बाद ही स्पष्ट होगा की आग कैसे लगी।

Edited By: Jagran