बिक्रमगंज (रोहतास), संवाद सहयोगी। स्थानीय पुलिस ने मानी पंचायत के मुखिया योगेंद्र सिंह उर्फ साधु यादव को गबन व हेराफेरी के मामले में गिरफ्तार किया है। इन पर नल-जल योजना की राशि के गबन का आरोप है। पंचायत के वार्ड सदस्‍य ने करीब एक वर्ष पूर्व मुखिया समेत पंचायत सचिव व संवेदक मामला दर्ज कराया था। पंचायत सचिव व संवेदक की गिरफ्तारी नहीं हुई है। 

14 लाख 89 हजार रुपये के गबन का है आरोप 

थानाध्यक्ष संजय कुमार सिन्हा ने बताया कि मानी पंचायत के वार्ड संख्या 6 के वार्ड सदस्य जरलाही मठिया निवासी लाल मोहर पासी ने मुखिया योगेंद्र सिंह उर्फ साधु यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसमें मुखिया समेत पंचायत सेवक लालूराम एवं संवेदक नरसिंह यादव को भी आरेापित किया था। बिक्रमगंज थाने में भादवि की धारा 420 , 467 , 463 , 470, 471, 506 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई। थानाध्यक्ष ने बताया कि प्राथमिकी में आरोप है कि मुखिया एवं पंचायत सेवक ने साजिश के तहत नल-जल योजना के करीब 14 लाख 89 हजार 479 रुपयेे संवेदक नरसिंह यादव के खाते में आरटीजीएस कर दिया। यह कार्य 13 जून  2018  को हुआ लेकिन नल जल का काम पूरा नहीं हुआ ।

बालू ढो रहे दो ट्रैक्‍टर किए गए जब्‍त 

प्रतिबंध के बावजूद लाॅकडाउन में अवैध रूप से बालू लेकर जा रहे दो ट्रैक्टर को राजपुर थाने की पुलिस ने शुक्रवार को तुर्कवलिया व दारेखाप गांव के बीच छापेमारी कर जब्त कर लिया। जबकि ट्रैक्टर छोड़कर भाग रहे दो चालकों में से एक धर दबोचा। थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि सूचना मिली कि अवैध बालू लेकर कुछ ट्रैक्टर दारेखाप गांव की ओर जा रहे हैं। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए तुर्कवलिया व दारेखाप रोड पहुंच दोनों ट्रैक्टर व एक चालक को घेर लिया। इस बीच एक चालक भाग निकला, जबकि एक पकड़ा गया। भागे हुए चालक की शिनाख्त की जा रही है। दोनों ट्रैक्टर पर ओवरलोड बालू लदा हुआ था। मामले में कार्रवाई के लिए खनन विभाग को लिखा गया है।