सासाराम/ रोहतास, जागरण संवाददाता। सासाराम रेलवे स्टेशन पर राजधानी एक्सप्रेस का ठहराव सुनिश्चित करने मामला अब संसद तक पहुंच गया है। स्थानीय सांसद छेदी पासवान ने ऐतिहासिक व पर्यटन की ²ष्टिकोण से महत्वपूर्ण सासाराम में 12321/12322 हावड़ा-नई दिल्ली तथा 12313/12314 नई-दिल्ली- सियालदह राजधानी एक्सप्रेस का ठहराव सुनिश्चित करने संबंधी सवाल संसद के समक्ष रखा। वहीं वित्तीय वर्ष 2008-09 में प्रस्तावित डेहरी-बंजारी नई रेल लाइन का निर्माण कार्य भी जल्द शुरू करने की मांग की है।

सांसद ने  लोक महत्व की मुद्दों को उठाते हुए कहा कि पूर्व-मध्य रेल डीडीयू डीवीजन के तहत 30 करोड़ से अधिक का राजस्व देने वाला स्टेशन सासाराम है। इस स्टेशन का अपना पुरातत्विक व ऐतिहासिक महत्व भी है। काफी संख्या में प्रत्येक वर्ष पर्यटक शेरशाह रौजा, बुद्ध प्रतिमा को देखने देश-विदेश से आते हैं। पर्यटकों व श्रद्धाुलओं के आवागमन को देखते हुए सासाराम रेलवे स्टेशन पर उक्त दोनों राजधानी एक्सप्रेस का ठहराव सुनिश्चित किया जाए। वहीं सांसद ने यह भी कहा है कि डेहरी -बंजारी नई रेल लाइन काफी दिनों से लंबित है। जिसका निर्माण कार्य शुरू किया जाना व्यापारिक व जनहित में आवश्यक है।

रेल मंत्री से डेहरी में आधा दर्जन ट्रेनोंं के ठहराव की उठाई मांग

 सांसद महाबली सिंह ने भी डेहरी आन-सोन रेलवे स्टेशन पर आधा दर्जन ट्रेनों के ठहराव की मांग शनिवार को रेल मंत्री से की है। सांसद ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को सौपे गए ज्ञापन में कहा है कि पूर्व रेलवे के  डेहरी आन सोन रेलवे स्टेशन पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल का तीसरा सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला स्टेशन है। इस  रेलवे स्टेशन पर रेल यात्रियों की सुविधा के लिए आधे दर्जन ट्रेनों के ठहराव की मांग लंबे अरसे से की जा रही है। उन्होंने  आरा रांची साप्ताहिक ट्रेन, दुर्गियाना सुपरफास्ट एक्सप्रेस, गरबा एक्सप्रेस  कोलकाता आनंद विहार एक्सप्रेस,  पुणे जसीडीह एक्सप्रेस व  हमसफर एक्सप्रेस के ठहराव की मांग की है। सांसद के अनुसार रेल मंत्री ने ट्रेनों के ठहराव का भरोसा दिया है।

 

Edited By: Sumita Jaiswal