जागरण संवाददाता, औरंगाबाद : मदनपुर प्रखंड के एक गांव में दुष्कर्म पीडि़ता के परिजनों से मिलने सोमवार को कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल औरंगाबाद विधायक आनंद शंकर सिंह के नेतृत्व में पहुंचे। पीडि़ता के परिवार को विधायक ने हर संभव सहयोग एवं सहायता की बात कही। पीडि़त परिवार के सदस्य घटना के बाद से काफी भयभीत हैं। आरोपित पक्ष के द्वारा पीडि़ता एवं उसके परिवार को डराया एवं धमकाया जा रहा है। बातचीत के दौरान यह बात निकलकर आई कि बीती रात को पीडि़त परिवार के एक शुभचिंतक मनीष कुमार  पीडि़ता के घर उनका हाल समाचार पूछने जाते हैं। जब वह वापस लौट कर अपने घर जाने लगते हैं। तब पीडि़ता के घर से थोड़ी ही दूरी पर अभियुक्त पक्ष एवं उसके सहयोगियों ने पीडि़ता के शुभचिंतक पर जानलेवा हमला कर दिया।

पीडि़ता के परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग

विधायक ने जिला प्रशासन से मांग की है कि पीडि़ता के परिवार को सुरक्षा मुहैया कराई जाए। उसके घर पर पुलिस बल सुरक्षा हेतु तैनात किया जाए। प्रतिनिधिमंडल में प्रखंड अध्यक्ष कांग्रेस मुखिया प्रतिनिधि प्रदीप सिंह, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रत्नाकर सिंह, एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आशुतोष सिंह, समाजसेवी अमित, मारकंडे उर्फ मुन्ना सिंह,  युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष धर्मेंद्र पासवान, उपाध्यक्ष शुभम सिंह,अशोक यादव, भोला कुमार, नीरज सिन्हा जी उपस्थित रहे।

क्षेत्र में महिलाओं में है भय की स्थिति

 प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि अगर पीडि़ता को अविलंब न्याय और हमारी मांगे पूरी नहीं की जाएगी। तो कांग्रेस पार्टी आंदोलन करने के लिए बाधित होगी।

Edited By: Prashant Kumar Pandey