गया। मकर संक्रांति के मौके पर प्रखंड के श्रीपुर स्थित बोधि ट्री स्कूल परिसर में सोमवार को विदेशी स्वयंसेवकों ने बच्चों के साथ चूड़ा-तिलकुट के स्वाद को चखा। भारतीय परंपरा के अनुसार, सभी स्वयंसेवक बच्चों के साथ कतारबद्ध होकर बैठे और थाल में चूड़ा, दही व गुड़ की तिलकुट लेकर स्वाद को चखा। उसके बाद बच्चों के साथ पतंगबाजी का आनंद उठाया। अमेरिका, जर्मनी, स्पेन, मालटा व इंगलैंड के स्वयंसेवकों को निदेशक धीरेन्द्र शर्मा ने मकर संक्रांति पर्व की महत्ता से अवगत कराया। उन्होंने स्वयंसेवकों को चीनी और गुड़ से तिलकुट तैयार करने की विधि को बताया। विदेशी स्वयंसेवकों ने चीनी की तुलना में गुड़ से बने तिलकुट को ज्यादा पसंद किया।

Posted By: Jagran