गया । मगध के प्रमंडलीय आयुक्त असंगबा चुबा आओ की अध्यक्षता में मंगलवार को सभाकक्ष में राजस्व संग्रहण कार्यो की प्रमंडलस्तरीय समीक्षा बैठक की गई। इसमें वाणिच्य कर के अपर आयुक्त मगध प्रमंडल ने बताया कि वाणिज्य कर विभाग ने प्रमंडल में कुल सात करोड़ चार लाख रुपये के राजस्व वसूली नवंबर 2019 तक की है। इसमें गया में दो करोड़ 40 लाख 76 हजार, औरंगाबाद में दो करोड़ 7 लाख 51 हजार, नवादा में एक करोड़ 15 लाख 90 हजार और जहानाबाद में एक करोड़ 40 लाख तीन हजार रुपये की वसूली की गई।

-----------

गया के निबंधन कार्यालय से 1.33 करोड़ की हुई प्राप्ति

प्रमंडल स्तर पर निबंधन कार्यालयों से कुल दो करोड़ 99 लाख 36 हजार रुपये की प्राप्ति हुई है। इसमें गया से एक करोड़ 33 लाख 77 हजार, औरंगाबाद से 72.95 लाख, नवादा से 48.20 लाख, जहानाबाद से 28.44 लाख, अरवल से 16 लाख रुपये की प्राप्ति हुई है, जो कुल वार्षिक लक्ष्य का 63.48 प्रतिशत है।

-------------

सबसे अधिक गया में जब्त किए गए

वाहन

मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग द्वारा बताया गया कि मगध प्रमंडल में अब तक अवैध शराब बिक्री के विरुद्ध 01 अप्रैल 2016 से अब तक कुल 35603 छापेमारी की गई। इनमें अरवल में 6519, औरंगाबाद में 10475, गया में 648, जहानाबाद में 6140, नवादा में 5988 छापेमारी की गई। इन छापेमारी में 7559 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई। इनमें अरवल में 600, औरंगाबाद में 90, गया में 2783, जहानाबाद में 1084 और नवादा में 2091 लोग गिरफ्तार किए गए तथा 404 दो पहिया वाहन, 91 तीन पहिया वाहन, 473 चार पहिया वाहन एवं 18 व्यवसायिक कुल 986 वाहन जब्त किए गए। इनमें अरवल में तीन, औरंगाबाद में 144, गया में 645, जहानाबाद में 15, नवादा में 179 वाहनों को जब्त किया गया। सबसे अधिक गया में वाहन जब्त किए गए हैं। मापतौल विभाग ने मगध प्रमंडल में अक्टूबर तक 51,75,549 रुपये की वसूली की, जो वार्षिक लक्ष्य का 34.75 प्रतिशत है।

--------------

वन विभाग ने वसूले 1. 72 करोड़ रुपये

वन विभाग द्वारा प्रमंडल स्तर पर एक करोड़ 72 लाख 27 हजार रुपये की वसूली की गई, जो लक्ष्य से 20 प्रतिशत अधिक है। आयुक्त ने एक्साइज विभाग से कहा, मद्यनिषेध अभियान में तेजी लाने की जरूरत है। अभी भी शिकायतें प्राप्त होती रहती हैं। होटल, रेस्ट हाउस एवं वाहनों की गहन छापेमारी अपेक्षित है। उन्होंने सभी पदाधिकारियों को अपने कार्यालय एवं अपने कार्यालय कक्ष को साफ एवं स्वच्छ रखने का निर्देश दिया तथा कहा कि इससे प्रशासन एवं सरकार की छवि बनती है, इसलिए अपने अधीनस्थ कार्यालयों को भी यह निर्देश दें कि कार्यालय को पूर्णतया साफ -सुथरा रखें। इसके लिए तुरंत सफाई करना प्रारंभ कर दें। बैठक में संबंधित सभी विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस